erectile-dysfunction-ka-ayurvedic-ilaj

इरेक्टाइल डिसफंक्शन को हिंदी में स्तंभन दोष के नाम से जाना जाता है।  यह पुरुषों में होने वाली एक बहुत ही आम यौन संबंधित समस्या है। रिसर्च के मुताबिक भारत में 40 से ज्यादा उम्र के लगभग 20% पुरुष इस बीमारी से पीड़ित हैं। बढ़ते समय के साथ इन पीड़ित लोगों की संख्या भी बढ़ रही है। ऐसा कहा जा रहा है की अब 40 से कम उम्र के पुरुषों भी इस समस्या से जूझ रहे हैं। 

जब पुरुष सेक्स के दौरान अपने लिंग में जरूरत मुताबिक इरेक्शन या स्तंभन लाने में असफल हो जाते हैं या फिर उसको बरकरार नहीं रख पाते हैं तो इस स्थिति को मेडिकल की भाषा में इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहते हैं। इसके लक्षणों में सेक्स करने की इच्छा कम हो जाना, कम शेव करना, शरीर पर कम बल पड़ना और मोटापा होना आदि शामिल है। 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन कभी कभी दिल से संबंधित बीमारियों का संकेत भी हो सकता है। इसलिए ऐसी स्थिति होने पर बिना देर किए तुरंत अपने परिवार और डॉक्टर से बात करनी चाहिए। लंबे समय तक इसे नजरअंदाज करने पर यह सेक्सुअल लाइफ में सैटिस्फेक्शन में बाधा डालता है जिसकी वजह से एक पति और पत्नी के बीच दूरियां भी पैदा हो सकती हैं। 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज करने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं को सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है। क्योंकि ये इस समस्या को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं साथ ही इसके इस्तेमल करने पर साइड इफेक्ट्स होने का खतरा भी लगभग शून्य होता है। हम आपको नीचे कुछ आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में बता रहे हैं जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। साथ ही अपने सेक्सुअल लाइफ को पूरी तरह से आनंद भी उठा सकते हैं। 

शिलाजीत — Erectile Dysfunction Ke Liye Shilajit 

शिलाजीत का इस्तेमाल इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या को दूर करने के लिए सबसे बेहतर इलाज माना जाता है क्योंकि इसमें काम की उत्तेजना को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं। सेक्सुअल कमजोरी को दूर करने के लिए शिलाजीत का इस्तेमाल अश्वगंधा के साथ करने का सुझाव दिया जाता है।  

टोंगकट अली — Erectile Dysfunction Ke Liye Tongkat Ali

टोंगकट अली को एशिया का व्याग्रा के रूप में भी जाना जाता है जिसका इस्तेमाल पुरुषों द्वारा काफी लंबे समय से किया जा रहा है। यह थाईलेंड, मलेशिया और इंडोनेशिया के मूल पेड़ की जड़ों का इस्तेमाल करके बनाया जाता है। इस आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल सेक्स करने की इच्छा और सेक्सुअल एक्टिविटी को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या को दूर करने के लिए काफी उपयोगी माना जाता है।

अश्वगंधा — Erectile Dysfunction Ke Liye Ashwagandha 

यह तंत्रिका, रेस्पेरेटरी और रिप्रोडक्टिव सिस्टम्स को को ठीक करता है। इस आयुर्वेदिक दवा के अंदर सेक्स की उत्तेजना बढ़ाने, शरीर के टिश्यूज को श्रिंक करने, शरीर को ऊर्जा और आराम देकर नींद सुलाने वाले गुण पाए जाते हैं। अश्वगंधा स्पर्म के उत्पादन को बढ़ाता है और यौन कमजोरी जैसे की बांझपन, अनीमिया और शरीर में टिश्यूज की कमी को पूरा करने का काम भी करता है।      

ट्रिब्यूलस टेरेस्ट्रिस — Erectile Dysfunction Ke Liye Tribulus Terrestris

इस दवा का इस्तेमाल लंबे समय तक भारत में किया गया है। इसका इस्तेमाल करने से इरेक्शन मजबूत होता है और सेक्सुअल ड्राइव बढ़ती है। अगर आप खुद में सेक्सुअल ड्राइव की कमी या फिर सेक्स के दौरान इरेक्शन में परेशानी देखते हैं तो आप इस आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

च्यवनप्राश — Erectile Dysfunction Ke Liye Chyavanprash

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होने के कारणों में एक कारण कमजोरी भी है। च्यवनप्राश शरीरी की कमजोरी को दूर करता है और इम्यून सिस्टम और ताकत को बढ़ाता है। च्यवनप्राश बहुत सी जड़ी बूटियों के मिश्रण से बना है जिसकी वजह से यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या को दूर करने में कारगर होता है। 

 

और पढ़े: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का घरेलू इलाज — Home Remedies For Erectile Dysfunction in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *