Pregnancy Test Ke Gharelu Upay

पचास के दशक से पहले भारत में महिलाएं अलग अलग घरेलू उपाय के जरिए प्रेगनेंसी टेस्ट खुद ही किया करती थीं। हालांकि आज की जेनरेशन (Generation) इन घरेलू उपायों पर ज्यादा भरोसा नहीं करती है। जबकि अगर साइंटिफिक पहलू (Scientific Perspective) से देखा जाए तो यह बात उभर कर सामने आती है कि ये घरेलू उपाय अलग अलग समस्याओं का सटीक उत्तर (Exact Answer) देने में सक्षम (Capable) रही हैं।

किसी भी औरत के लिए मां बनना एक सबसे खूबसूरत पल और एहसास होता है। अपनी प्रेगनेंसी को टेस्ट करने के लिए महिलाएं आमतौर पर बाजार में मौजूद प्रेगनेंसी टेस्ट किट (Pregnancy Test Kit) का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन इसके इस्तेमाल की सही जानकारी ना होने की वजह से कई बार इस किट का रिजल्ट (Result) गलत आ जाता है जिसकी वजह से भ्रम (Misunderstanding) पैदा हो जाता है। 

प्रेगनेंसी के लक्षण (Symptom) महसूस होने पर सबसे बेहतर है कि आप डॉक्टर के पास जाकर चेक-अप (Check-up) कराएं और उनकी सलाह को फॉलो (Follow) करें। लेकिन अगर आप अपनी प्रेगनेंसी टेस्ट को अपने घर पर ही करना चाहती हैं तो कुछ घरेलू उपाय मौजूद हैं जिनकी मदद से आप इसका टेस्ट कर सकती हैं। 

आमतौर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए लगभग 20 उपाए मौजूद हैं। इस ब्लॉग (Blog) के जरिए हम आपको कुछ खास (Best) घरेलू उपायों के बारे में बताएंगे जो घर पर ही प्रेगनेंसी टेस्ट्स करने में आपकी मदद करेंगे। अगर आप प्रेगनेंसी के लक्षणों को महसूस कर रही हैं तो इन उपायों के जरिए आप प्रेगनेंसी टेस्ट को बहुत आसानी से कर सकती हैं। 

प्रेगनेंसी टेस्ट क्या है (Pregnancy Test in Hindi) 

प्रेगनेंसी टेस्ट एक प्रक्रिया है जिसकी मदद से एक महिला इस बात की पुष्टि करती है की वह प्रेगनेंट है या नहीं। समय पर पीरियड्स नहीं आने पर हर महिला के मन में यह प्रश्न उठ सकता है की कही उसने गर्भ धारण तो नहीं कर लिया। प्रेगनेंसी की खबर जहां कुछ महिलाओं के लिए खुशियों से भरे त्योहार की तरह होता है वहीं कुछ महिलाओं के लिए यह तनावपूर्ण हो सकता है और खासकर उन महिलाओं के लिए जो अभी मां नहीं बनना चाहती हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट की मदद से गर्भावस्था की पुष्टि की जाती है। Pregnancy Test Krne Ka Gharelu Upay प्रेगनेंसी टेस्ट कई तरह से किया जाता है।         

प्रेगनेंसी टेस्ट कब करें (When To Do Pregnancy Test in Hindi)

Pregnancy Test Kab Karen जब आप सेक्स करती हैं तो स्पर्म और अंडे का निषेचन होता है जिसके बाद निषेचित डिंब गर्भाशय में प्रत्यारोपित हो जाता है। इस प्रक्रिया के पूरा होते ही आप गर्भधारण कर लेती हैं। गर्भधारण करते ही आपके अंदर हार्मोनल बदलाव होने लगते हैं जिसके कारण आपके अंदर ढेरों बदलाव आते हैं। प्रेग्नेंट होने के बाद आपके पीरियड्स भी आने बंद हो जाते हैं जो प्रेगनेंसी की ओर इशारा होता है। अगर आपके पीरियड्स निर्धारित समय के एक सप्ताह के अंदर नहीं आते हैं तो आपको Pregnancy Test Gharelu Upay अपनी प्रेगनेंसी टेस्ट करनी चाहिए। प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए यह बिलकुल सही समय होता है।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (How to do pregnancy test at home in Hindi)

यूरिन के जरिए (Pregnancy Test With Urine in Hindi)

पेशाब के जरिए प्रेगनेंसी को चेक किया जा सकता है। इसके लिए आप अपने सुबह के यूरिन (Urine) को एक ग्लास (Glass) में रखकर इसे ढक्कन या किसी दूसरी चीज से ढंक (Cover) कर एक दिन के लिए रख दें। एक दिन के बाद अगर ग्लास में जमा हुए यूरिन के ऊपर आपको एक पतली परत (Thin Layer) बनी हुई दिखाई दे तो इसका मतलब यह हुआ की आप प्रेग्नेंट हैं। लेकिन अगर एक दिन के बाद ऐसा नहीं हुआ तो यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि आप प्रेग्नेंट नहीं हैं। 

साबुन के जरिए (Pregnancy Test With Soap in Hindi)

साबुन की मदद से प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है, इसके लिए आपको एक ग्लास लेना है जिसमें थोड़ी मात्रा (Small Amount) में सुबह के यूरिन को डाल दें। यूरिन के नमूने (Urine Sample) में थोड़ी मात्रा में साबुन (Soap) मिलाएं और फिर कुछ समय के लिए इंतजार करें। अगर यूरिन में बुलबुले (Bubbles) बनते हैं तो आप प्रेग्नेंट हैं। 

शैम्पू के जरिए (Pregnancy Test With Shampoo in Hindi)

यह प्रेगनेंसी टेस्ट करना काफी आसान (Easy to Perform) है जिसका रिजल्ट (Result) बहुत ही जल्दी मिल जाता है। इस टेस्ट को करने के लिए एक ग्लास में दो बूंद शैंपू डालकर इसमें धीरे धीरे थोड़ा पानी मिलाकर एक घोल तैयार करना है। लेकिन ध्यान रखें कि ये करते समय इस घोल में झाग (Foam) ना बनें क्योंकि झाग प्रेगनेंसी रिजल्ट को ठीक से देखने में बाधा (Hindrance) बन सकता है। 

इतना करने के बाद अपने सैंपल यूरिन (Sample Urine) में से कुछ बूंदें (Few Drops) डाल दें। यूरिन डालने के थोड़ी देर बाद अगर घोल में झाग (Foam) बनने लगे तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्नेंट हैं। लेकिन यूरिन मिलाने के बाद अगर घोल में झाग नहीं बना तो यह आपके प्रेग्नेंट ना होने की ओर संकेत (Indicate) करता है। 

चीनी के जरिए (Pregnancy Test With Sugar in Hindi)

चीनी के जरिए प्रेगनेंसी की जांच करने के लिए नमूने के तौर पर रखे गए यूरिन को एक ग्लास में डाल दें। फिर इसमें दो चम्मच चीनी (Two Spoon Sugar) को घोलें। अगर चीनी मिश्रण में पूरी तरह से नहीं घुलती (Dissolve) है और यूरिन में मौजूद HCG हार्मोन (Harmon) चीनी के साथ मिलकर गुच्छों (Bunches) या गुठली के रूप में बदल जाता है तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्नेंट हैं। लेकिन अगर चीनी पूरी तरह से यूरिन में घुल जाती है तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्नेंट नहीं हैं। 

नमक के जरिए (Pregnancy Test With Salt in Hindi)

दूसरी कोई भी चीज किसी के घर में मिले या नहीं लेकिन नमक एक ऐसी चीज है जो हर किसी के घर में मौजूद होती है। नमक प्रेगनेंसी टेस्ट करने का सबसे सस्ता और आसान तरीका है। इसका इस्तेमाल करने के लिए एक ग्लास में अपने सैंपल यूरिन (Sample Urine) को रख दे और फिर उसमें दो चुटकी नमक (Two pinches of salt) डालकर चार से पांच मिनट के लिए छोड़ दें। अगर दिए हुए समय के अंदर इसमें क्रीम (Cream) जैसे सफेद रंग के गुच्छे या झाग बन जाए तो यह आपकी प्रेगनेंसी को कंफर्म (Confirm) करता है। लेकिन अगर ऐसा नहीं हुआ तो आप प्रेग्नेंट नहीं हैं। 

टूथपेस्ट के जरिए (Pregnancy Test With Toothpaste in Hindi)

टूथपेस्ट की मदद से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए एक ग्लास या किसी दूसरे बर्तन में थोड़ी सी मात्रा में अपने सैंपल यूरिन को रखें। फिर इसमें थोड़ा सा सफेद टूथपेस्ट (White Toothpaste) मिलाएं और इसे एक घंटे के लिए छोड़ दें। एक घंटे के बाद इस यूरिन और पेस्ट के घोल को ब्रश से हिलाएं। अगर यह घोल झाग देने लगता है और साथ ही नीला पड़ जाता है तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्नेंट हैं।

सिरका के जरिए (Pregnancy Test With Vinegar in Hindi)

विनेगर या सिरका से घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए सुबह के अपने यूरिन को एक बर्तन में रखें और फिर इसमें विनेगर (Vinegar) डालने के बाद इसे मिलाएं। इस घोल का रंग बदलना, प्रेगनेंसी की ओर इशारा करता है। विनेगर डालने के बाद अगर घोल का रंग नहीं बदला तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

पाइन सोल क्लीनर के जरिए (Pregnancy Test With Pine-Sol Cleaner in Hindi)

पाइन सोल क्लीनर (Pine-Sol Cleaner) से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए नमूने के तौर पर रखें यूरिन को एक बर्तन में डाल दें और फिर बराबर मात्रा (Equal Quantity) में क्लीनर को मिलाएं। थोड़ी देर के बाद अगर क्लीनर और यूरिन के मिश्रण (Mixture) का कलर चेंज हो गया तो इसका मतलब ये है कि आप प्रेग्नेंट हैं। और अगर इसका कलर चेंज नहीं हुआ तो यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

बेकिंग सोडा के जरिए (Pregnancy Test With Baking Soda in Hindi)

बेकिंग सोडा के जरिए भी प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है। एक बर्तन में अपने सैंपल यूरिन को रखें और फिर लगभग दो चम्मच बेकिंग सोडा (Two Spoon Baking Soda) इसमें डालकर मिलाएं। अगर बेकिंग सोडा और यूरिन का ये घोल बुलबुला बनाने लगे  तो यह आपकी प्रेगनेंसी की तरफ इशारा करता है। 

ब्लीचिंग पाउडर के जरिए (Pregnancy Test With Bleaching Powder in Hindi)

ब्लीचिंग पाउडर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के घरेलू उपायों में से एक है। एक ग्लास या बर्तन में अपने सुबह के यूरिन को रखें। फिर इसमें थोड़ी मात्रा में ब्लीचिंग पाउडर को डालें और फिर इसे मिलाएं। थोड़ी देर के अंदर अगर ब्लीचिंग और यूरिन के इस मिश्रण में बुलबुले आते हैं तो यह आपकी प्रेगनेंसी को कन्फॉर्म करते हैं। 

डेटॉल के जरिए (Pregnancy Test With Dettol in Hindi)

डेटॉल के इस्तेमाल से भी प्रेगनेंसी का पता लगाया जा सकता है। अपने यूरिन सैंपल से लगभग 20 ml एक ग्लास या किसी दूसरे बर्तन में डाल दें। फिर इसमें यूरिन (Urine) के मात्रा जितनी ही डिटॉल (Dettol) मिलाएं। थोड़ी देर के अंदर अगर यूरिन और डिटॉल का मिश्रण (Mixture) अलग अलग हो कर डेटॉल के ऊपर तेल की तरह तैरने लगे तो इसका मतलब यह हुआ कि आप प्रेग्ननेंट हैं। लेकिन अगर इनके मिश्रण का कलर (Color) दूधिया सफेद (Milky White) हो गया तो फिर यह आपके प्रेग्नेंट ना होने की ओर इशारा करता है।

गेहूं और जौ के जरिए (Pregnancy Test With Wheat and Barley in Hindi)

प्रेगनेंसी टेस्ट के घरेलू उपायों में से एक गेहूं और जौ भी है। इनका इस्तेमाल करने के लिए एक ग्लास में थोड़े से गेंहूं और जौ को रखें और फिर उसमें अपने सैंपल यूरिन (Sample Urine) को डाल कर इसे कुछ दिनों (For Few Days) के लिए एक जगह पर रख दें। कुछ दिनों के बाद इसे फिर चेक करें अगर गेंहूं और जौ उस ग्लास में अंकुरित (Sprout) हो गए हैं तो इसका मतलब यह हुआ की आप प्रेग्नेंट हैं। और अगर ऐसा नहीं हुआ तो यह आपके प्रेग्नेंट ना होने की ओर इशारा करता है। ऐसा माना जाता है कि पानी की तुलना महिला के यूरिन में गेहूं और जौ प्रेग्नेंट से ज्यादा जल्दी अंकुरित हो जाते हैं। 

प्याज के जरिए (Pregnancy Test With Onion in Hindi)

प्याज भी उन घरेलू उपायों में से एक है जिसके जरिए प्रेगनेंसी टेस्ट किया सकता है। प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए प्याज को काटकर महिला की योनि (Vagina) में रात भर के लिए रख दें। अगर सुबह तक प्याज में बदबू (Odor) ना आए तो इसका मतलब यह हुआ कि वह औरत प्रेग्नेंट है।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान ध्यान रखने वाली बातें (Things To Keep in Mind While Doing Pregnancy Test at Home in Hindi): 

  • जिस महीने में आपका पीरियड मिस (Period Miss) हो जाए फिर उल्टी (Vomitting), पीठ में दर्द (Back Pain), घबराहट (Restlessness) और आलस (Laziness) होने लगे तो आप अपने घर पर घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • डॉक्टर हमेशा सुबह उठने के तुरंत बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करने की सलाह देते हैं क्योंकि ये समय टेस्ट करने के लिए बेस्ट समय माना जाता है।
  • टेस्ट करने के लिए सुबह का यूरिन सबसे बेस्ट माना जाता है।
  • इस बात का ध्यान रखें कि प्रेगनेंसी टेस्ट करने के तीन घंटे पहले तक आप टॉयलेट नहीं गयी हों।
  • टेस्ट करने के लिए यूरिन के सैंपल को इतनी मात्रा में लें कि वो टेस्ट करने के लिए कम ना हों।
  • अगर आपको रात में यूरिनेशन (Urination) की आदत (Habit) है तो टेस्ट के लिए रखे हुए यूरिन के बीच लगभग तीन घंटे का अंतराल (Interval) होना चाहिए। 
  • यूरिन में HGC हार्मोन (Harmon) मौजूद होते हैं जिनकी मदद से प्रेगनेंसी का पता लगाया जाता है। 
  • इस हार्मोन को टेस्ट के जरुरत मुताबिक डेवलप (Develop) होने के लिए यूरिन का कुछ समय के लिए ब्लैडर में रहना बहुत जरूरी है।
  • प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सभी चीजों की सफाई (Cleanliness) का ध्यान रखें। 
  • घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट थोड़ी देर में रिजल्ट दे देते हैं, इसलिए सब्र रखें। टेस्ट और इसके रिजल्ट के लिए जरूरी समय दें। 
  • प्रेगनेंसी टेस्ट के समय इस्तेमाल किए जाने वाले बर्तन को बिना मतलब के ना हिलाएं। 
  • अगर प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट निगेटिव (Negative Result) आता है तो 72 घंटे के बाद दोबारा जांच कर सकते हैं। क्योंकि ये घर की चीजों के साथ की जाने वाली जांच है इसलिए इनके रिजल्ट में थोड़ा डाउट (Doubt) हो सकता है।   
  • कई बार टेस्ट की सही जानकारी ना होने की वजह या फिर टेस्ट गलत तरीके से करने की वजह से रिजल्ट भी गलत आ सकते हैं।  
  • बार बार पीरियड मिस (Period Miss) होने और प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट निगेटिव (Negative) आने पर जल्द से जल्द स्त्री रोग विशेषज्ञ (Gynaecologist) से मिलें और अपनी परेशानियों को उनके साथ शेयर करें।।   
  • टेस्ट करने के बाद एक बार डॉक्टर से जरूर मिलें और उनसे बात करें। 

इन सभी टेस्ट के अलावा भी काफी दूसरे उपाय हैं जिनकी मदद से आप घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकते हैं। लेकिन हमने जिन चीजों की बात की है वो चीजें आपके घर में ही मौजूद रहती हैं। 

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट किट का उपयोग (Pregnancy Test At Home With Pregnancy Test Kit in Hindi)

घरेलू उपायों के अलावा, Gharelu Nuskhe For Pregnancy Test प्रेगनेंसी टेस्ट किट के जरिए भी घर बैठे प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है। Pregnancy Test Karne Ke Gharelu Upay in Hindi गर्भावस्था जांच करने का यह काफी विश्वसनीय और आसान तरीका माना जाता है। इसकी मदद से आप लगभग पांच से दस मिनट के अंदर अपनी प्रेगनेंसी की पुष्टि कर सकती हैं। यह बाजार में उपलब्ध है। इसे खरीदने के बाद इसके साथ में मिले दिशा निर्देश को अच्छे से पढ़ना, समझना और फिर इसका इस्तेमाल करना चाहिए। Pregnancy Check Karne Ke Gharelu Upay प्रेगनेंसी टेस्ट किट कई कंपनियों के द्वारा बनाई जाती है और अलग अलग कंपनी के टेस्ट किट को इस्तेमाल करने का तरीका भी अलग अलग होता है। इसलिए इस्तेमाल करने से पहले ध्यान से दिशा निर्देश को पढ़ना चाहिए।   

दिशा निर्देश को अच्छे से समझने के बाद आप प्रेगनन्सी टेस्ट की प्रक्रिया को शुरू कर सकती हैं। अगर किट के स्ट्रीप पर पेशाब करने को लिखा गया है तो आप उसपर पेशाब करें और अगर स्ट्रीप पर पेशाब की कुछ बूंदों को रखने का निर्देश है तो उसपर अपने पेशाब की कुछ बूंदों को रखें और फिर कुछ मिनट तक उसके रिजल्ट आने का इंतजार करें। कुछ प्रेगनेंसी टेस्ट किट में रिजल्ट के तौर पर Pregnancy Test Karne Ke Gharelu Upay in Hindi कुछ रंगीन लकीरें दिखाई देती हैं और कुछ किट पर Pregnant या Not Pregnant लिखा हुआ आता है। इस तरह से आप बिना किसी परेशानी को झेले Ghar Pe Pregnancy Test Karne Ka Tarika घर बैठे बैठे मिनटों में अपनी प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकती हैं।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करना कितना ठीक होता है (How good is it to do pregnancy test at home in Hindi)

घरेलू उपायों के जरिए किए गए प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट हमेशा सही नहीं होते हैं। इन सभी टेस्ट की एक्यूरेसी (Accuracy) महिला के यूरिन में मौजूद एचसीजी हारमोन (HCG Harmon) की मात्रा और प्रेगनेंसी टेस्ट सही से किया गया है या नहीं, इस बात पर डिपेंड (Depend) करती है। 

यही वजह है कि इस टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव या निगेटिव (Positive or Negative) आने के बाद भी आपको को लगता है कि रिजल्ट सही नहीं है तो आप दो या तीन बार टेस्ट कर सकते हैं। लेकिन इसके बावजूद भी अगर आपको रिजल्ट से सुकून ना मिले तो आपको तुरंत एक डॉक्टर से मिलकर सलाह लेनी चाहिए। 

डॉक्टर से प्रेगनेंसी टेस्ट करवाना क्यों ज्यादा जरूरी है (Why it is more important to have your pregnancy test from a doctor) 

डॉक्टर के जरिए की गई प्रेगनेंसी टेस्ट की विश्वसनीयता अधिक होती है। यही कारण है की आपको क्लिनिक जाकर अपनी प्रेगनेंसी टेस्ट करवानी चाहिए। घरेलू उपायों के जरिए की गई प्रेगनेंसी टेस्ट के रिजल्ट हमेशा सही नहीं होते हैं। इन सभी टेस्ट की एक्यूरेसी (Accuracy) इस बात पर निर्भर करता है कि महिला के यूरिन में मौजूद एचसीजी हार्मोन (HCG Harmon) की मात्रा और प्रेगनेंसी टेस्ट की प्रक्रिया को सही से फॉलो किया गया है या नहीं। यही वजह है कि इस टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव या निगेटिव आने के बाद भी आपको को लगता है कि रिजल्ट सही नहीं है और आप दो या तीन बार फिर से टेस्ट करती हैं। लेकिन इसके बावजूद भी अगर आपको रिजल्ट से सुकून ना मिले तो आपको तुरंत एक डॉक्टर से मिलकर सलाह लेनी चाहिए। 

आपके शरीर में कुछ परेशानी होने के कारण भी कई बार आपको गर्भधारण करने में समस्याएं पैदा होती हैं। जिसके बारे में आपको पता नहीं होता है। आप इनके लक्षणों पर नाही ध्यान देती हैं और नाही इन्हे पहचान पाती हैं। अगर आप प्रेगनेंट होना चाहती हैं तो आपको कुछ बातों पर ध्यान देना आवश्यक होता है और अगर आप प्रेगनेंट नहीं भी होना चाहती हैं तो भी आपको कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। इन स्थितियों में आमतौर पर आपको मालूम नहीं होता है की कौन सी स्थिति में क्या करना है। लेकिन आपके डॉक्टर को पता होता है। इसलिए यह आवश्यक है की आप घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के बजाय डॉक्टर द्वारा अपना टेस्ट करवाएं। 

ऊपर बताई गई दोनों ही स्थितियों में डॉक्टर आपकी मदद कर सकते हैं। घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट से ज्यादा बेहतर डॉक्टर द्वारा उनके क्लिनिक पर जाकर टेस्ट करवाना ज्यादा सुरक्षित, सफल और विश्वसनीय होता है। डॉक्टर टेस्ट करने करने के बाद आपकी प्रेगनेंसी की पुष्टि करते हैं। अगर आप गर्भधारण नहीं कर पा रही हैं तो वे इसके कारण का पता लगाकर कुछ इलाज का सझाव देते हैं जिसके बाद आपको गर्भधारण करने में किसी तरह की कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। 

अगर आप गर्भधारण करना चाहती हैं, अगर आप अपनी प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहती हैं, अगर आप गर्भधारण करना चाहती हैं लेकिन नहीं कर पा रही हैं या फिर अगर आपको गर्भधारण तथा प्रेगनेंसी से संबंधित किसी भी तरह की कोई परेशानी है तो आपको स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिलकर इस बारे में बात करनी चाहिए। वे आपकी सभी परेशानियों को दूर कर सकते हैं। प्रिस्टीन केयर के पास देश की बेहतरीन स्त्री रोग विशेषज्ञ मौजूद हैं जिन्हे सालों का अनुभव है। इन सभी स्थितियों में प्रिस्टीन केयर आपके लिए एक बढ़िया विकल्प साबित हो सकता है।            

और पढ़ें: