Belly pain in Hindi, it can be hernia too

पेट के निचले हिस्से या नाभि को छूने में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से एक हर्निया भी हो सकता है। हालांकि, कई बार पेट की गैस और पेट से जुड़ी सामान्य समस्या (जैसे- कब्ज) भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकता है। यदि दर्द लगातार हो रहा है तो हो सकता है कि आपको कब्ज हो और ऐसे में अधिक घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि कुछ देर बाद वह दर्द खुद ही खत्म हो जाता है, लेकिन यदि दर्द कुछ अलग-अलग तरीकों से हो रहा है तो उसके अलग-अलग कारण हो सकते हैं।

नाभि छूने में दर्द होने के कारण

हर्निया

जब पेट की मांसपेशी में किसी कारणवश कोई दरार आ जाता है और उस मांसपेशी के भीतर मौजूद अंग बाहर आ जाता है तो उसे हर्निया कहते हैं। ऊँगली से दबाने पर यह अंग दोबारा अंदर चला जाता है और उस दौरान रोगी को दर्द होता है। यदि आपको ऐसा महसूस होता है कि आपका कोई अंग अंदर जा रहा है तो डॉक्टर से निदान कराएं।

सर्जरी के बाद का दर्द

यदि नाभि के आस-पास कोई सर्जरी हुई है तो उसे दबाने पर दर्द होगा। हालांकि, बढ़ते दिन के साथ यह कम होता जाता है, लेकिन यदि आपको दर्द में कोई कमी नहीं नजर आ रही है तो यह एक इन्फेक्शन का संकेत है। ऐसे में अपने सर्जन/डॉक्टर से बात करें।

पेट में अल्सर

खाना को पचाने के लिए पेट एसिड का उत्पादन करता है, लेकिन जब इसका उत्पादन अधिक होने लगता है तो पेट के अस्तर पर घाव हो जाता है। फलस्वरूप नाभि छूने पर दर्द होता है।

यूटीआई

कई बार यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन का इन्फेक्शन शरीर के अन्य अंगों में फैल जाता है। यह पेट तक भी पहुँच सकता है और दर्द का कारण बन सकता है। पेट दर्द होना यूटीआई का ही एक लक्षण है।

पित्ताशय की पथरी

जब पित्ताशय में कोलेस्ट्रॉल तथा अन्य वेस्ट इकट्ठा होने लगते हैं तब वहां पर स्टोन का निर्माण हो जाता है। पेट के निचले हिस्से में दर्द होना पित्ताशय की पथरी का संकेत हो सकता है। पित्ताशय की पथरी को ठीक करने के लिए सर्जरी के जरिए पित्ताशय को अलग कर दिया जाता है।

एपेंडिसाइटिस

यदि आप एपेंडिसाइटिस से पीड़ित हैं और आपके अपेंडिक्स में सूजन आ गया है तो आपके नाभि में दर्द महसूस हो सकता है। एपेंडिसाइटिस के लक्षणों में मतली, उल्टी, बुखार, सूजन और कब्ज या दस्त शामिल है। अपेंडिक्स के फूल जाने पर इसका 24 घंटे में उपचार करवाना बहुत आवश्यक हो जाता है, अन्यथा यह फट सकता है और संक्रमण शरीर के अन्य अंगों पर भी फैल सकता है।

बैक्टीरियल संक्रमण

मानव शरीर में कुछ अच्छे बैक्टीरिया हैं और कुछ गंदे बैक्टीरिया हैं। पेट में प्रवेश करने पर खराब बैक्टीरिया संक्रमण का कारण बन सकते हैं और नाभि में गंभीर दर्द हो सकता है। यह तब होता है जब आप दूषित भोजन का सेवन करते हैं या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं।

ये बैक्टीरिया धीरे-धीरे पेट और छोटी आंत में घाव बनाने लगते हैं, जिससे पेट के कैंसर का खतरा अधिक हो जाता है। यह संक्रमण आस-पास के अंगों में भी फैल सकता है, ऐसा होने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

पैनक्रिएटाइटिस

पैंक्रियास एक ग्लैंड है जो यह सुनिश्चित करता है कि हमारे शरीर में ऊर्जा की खपत को पूरा करने के लिए चीनी की भरपूर मात्रा है। नाभि में दर्द होना पैनक्रिएटाइटिस का ही एक लक्षण है।

अपच

जब खाना नहीं पचता है तो पेट दर्द होने लगता है और कब्ज हो जाता है। नाभि में दर्द होना इसका ही एक लक्षण है।

छोटी आंत में समस्या होने पर

छोटी आंत के विकार जैसे क्रोहन रोग या इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम (IBS) नाभि में गंभीर दर्द का कारण बनते हैं। यह एक क्रोनिक कंडीशन है जो आपकी दैनिक गतिविधि में बाधा डालती है। इसलिए, सही इलाज के लिए किसी अच्छे गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट से सलाह लें।

निष्कर्ष – Conclusion

नाभि छूने में दर्द होने पर इसे आम नहीं समझना चाहिए। कई बार यह ऊपर बताई गई गंभीर परिस्थिति के कारण हो सकता है। इसलिए अगर आपको हमेशा नाभि या पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है तो हर्निया जैसी गंभीर परिस्थिति का निदान करवाने के लिए डॉक्टर की सलाह लें। यदि आपको हर्निया है और आप इसके उपचार की सही सलाह चाहते हैं तो Pristyn Care में अपॉइंटमेंट बुक करें या कॉल करें। हम हर्निया का लेप्रोस्कोपिक उपचार करते हैं, जो एक दर्द रहित और रक्त रहित प्रक्रिया है, उपचार के बाद आप 2 दिन बाद अपने ऑफिस में जाकर काम कर सकते हैं। 

पढ़ें- Pristyn Care में हर्निया का लेप्रोस्कोपिक उपचार