हर्निया ऑपरेशन के बाद क्या खाना चाहिए

हर्निया ऑपरेशन के बाद खान-पान जितना अच्छा होगा, रिकवरी के दौरान तकलीफें कम होगी और व्यक्ति जल्दी ही अपने सामान्य स्थिति में लौट आएगा। हमारे शरीर को हील या रिपेयर करने के लिए कई तरह के खाद्य पदार्थों की आवश्यकता होती है जिसमें सभी जरूरी पोषक तत्वों का होना बहुत आवश्यक है।

हर्निया की सर्जरी के बाद ऐसे आहार का चयन करना चाहिए जिससे पेट साफ़ होने में कोई परेशानी न हो और वह आसानी से पच सके। इसलिए सर्जरी के बाद रोगी को अपने आहार का चयन करना बहुत कठिन लगता है।

हर्निया ऑपरेशन के बाद क्या खाना चाहिए – Hernia operation ke bad kya khaye

1. तरल पदार्थों का सेवन करें

सर्जरी के बाद दर्द को कम करने और रिकवर होने के लिए कई तरह की दवाइयाँ और एनेस्थीसिया (anesthesia- सुन्न करने वाली दवा) दिए जाते हैं। परिणामस्वरूप रोगी को मितली आने की पूरी संभावना होती है। ऐसी स्थिति में हेल्थ केयर बडी तरल पदार्थों का भरपूर सेवन करने को कहते हैं।

लेकिन, तरल पदार्थ में कोई मिश्रण नहीं होना चाहिए। जैसे- एप्पल जूस, पानी, चिकन सूप, आदि कई प्रकार के सादा सूप का सेवन कर सकते हैं। इन तरल पदार्थों के सेवन से रिकवरी के दौरान मूड स्विंग से निजात मिलेगा वहीं, शरीर में पानी की कमी भी नहीं होगी जिससे रिकवरी और भी आसान हो जाएगी।

पढ़ें- हर्निया ऑपरेशन में कितना खर्च लगता है

2. फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें

हर्निया का ऑपरेशन के बाद यदि कब्ज होता है तो रोगी को मलत्याग के दौरान भारी दर्द का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस दौरान आहार में फाइबर शामिल करना बहुत जरूरी है। फाइबर मल को कोमल बनाता है और एक नेचुरल लैक्सेटिव की तरह काम करता है। जिससे आंतों की पूरी सफाई हो जाती है।

कई बार ऑपरेशन के बाद दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की दवाइयां भी कब्ज का कारण बन सकती है। ऐसी स्थिति में तरल पदार्थों और फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है।

पढ़ें- हर्निया की सर्जरी कैसे होती है?

फाइबर की कमी पूरी करने के लिए रोगी को एप्पल जूस दिया जा सकता है। इसके अलावा डॉक्टर दलिया खिलाने की सलाह भी देते हैं। लेकिन, दलिया में कुछ और नहीं मिलाना चाहिए। तेल और मिर्च मसाले से फ्राइड दलिया का सेवन करने से रोगी को और भी समस्याएँ हो सकती हैं। हरी सब्जियाँ, कुछ फल, व्होल ग्रेन आदि कई खाद्य पदार्थ फाइबर के अच्छे स्रोत हैं।

इसके अलावा हर्निया ऑपरेशन के बाद फाइबर की पूर्ति करने के लिए डॉक्टर की सलाह से किसी अच्छे फाइबर सप्लीमेंट का सेवन भी कर सकते हैं।

3. प्रोटीन (protein)

शरीर को खुद से रिपेयर और हील करने के लिए प्रोटीन की बहुत जरूरत होती है। हर्निया के ऑपरेशन के बाद होने वाले सूजन को कम करने और मांसपेशी के ऊतकों (tissue) को रिपेयर करने के लिए प्रोटीन का सेवन करना बहुत आवश्यक है। अंडा, बीन्स, टोफू आदि कई प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। प्रोटीन की भरपाई करने के लिए अंडा का सेवन किया जा सकता है लेकिन, तीन अंडों से ज्यादा का सेवन न करें, क्योंकि, इससे अपच हो सकता है।

पढ़ें- हर्निया की सर्जरी के बाद सावधानियाँ

4. प्रोबायोटिक (probiotics)

खाना पचाने के लिए हमारे पेट को अच्छे बैक्टीरिया की जरूरत होती है। प्रोबायोटिक के सेवन से पेट में अच्छे बैक्टीरिया की उत्पत्ति होती है जिससे, भोजन अच्छी तरह से पचता है और रक्त में अवशोषित होता है। प्रोबायोटिक के सेवन से कब्ज से राहत मिलती है और हर्निया ऑपरेशन के बाद मलत्याग सरलता से हो पाता है। सर्जरी के बाद की दवाइयों का सेवन के आम साइड इफेक्ट्स जैसे- मितली, मूड स्विंग्स आदि से राहत दिलाने में प्रोबायोटिक बहुत कारगर हैं। किम्ची, दही, केफिर, खट्टी गोभी आदि प्रोबायोटिक के अच्छे स्रोत हैं।

5. पोषक तत्व

कुछ जरूरी पोषक तत्व जैसे- एंटीऑक्सीडेंट, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन A, विटामिन B, विटामिन C, विटामिन K, और विटामिन E बहुत जरूरी है। ये पोषक तत्व क्विक हील में मदद कर सकते हैं। सर्जरी से रिकवरी के लिए डॉक्टर आपको मल्टी-विटामिन खाने की सलाह दे सकते हैं। लेकिन, आप खुद से किसी भी मल्टीविटामिन का सेवन न करें।

पढ़ें- क्या हर्निया कि सर्जरी के बाद सेक्स करना चाहिए

हर्निया ऑपरेशन के बाद क्या नहीं खाना चाहिए? Hernia operaton ke bad kya nahi khaye?

1. एसिड रिफ्लक्स वाले खाद्य पदार्थ

 अगर आपको हाइटल हर्निया (hiatal hernia) थी और उसका ऑपरेशन हुआ है तो ऐसे किसी भी खाद्य पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए जिससे एसिड रिफ्लक्स की समस्या हो। एसिड रिफ्लक्स में पेट की एसिड फूड पाइप तक पहुँच जाती है। इसके लिए आप खट्टे, तीखे, तैलीय और मिर्च मसाले वाले पदार्थों का सेवन न करें।

इनके सेवन से सीने में जलन और थकान भी महसूस हो सकती है। इसके अलावा चॉकलेट, लहसुन, प्याज, पुदीना, मादक पेय और कॉफी भी आपके पेट को उत्तेजित कर सकते हैं। इतना ही नहीं किसी भी प्रकार के हर्निया का ऑपरेशन में ऊपर बताई गई किसी भी चीजों का सेवन करना वर्जित है।

2. ग्लूटेन का सेवन न करें

ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थों (ब्रेड, पेस्ट्री आदि) का बहिष्कार करें। ये खाद्य पदार्थ गोंद की तरह काम करते हैं जिससे खाना आंतों में चिपकता है और मल त्याग के दौरान रोगी की दशा दयनीय होती है। मल त्याग के दौरान ज्यादा प्रेशर के कारण टाँका वाली जगह में खिंचाव उत्पन्न होता है जिससे रिकवरी टाइम अधिक हो जाता है।

3. शुगर

किसी भी खाद्य पदार्थ में शर्करा (sugar) नहीं मिलाएं। शक्कर खाने से तुरंत एनर्जी मिलती है लेकिन, कुछ समय बाद शरीर खाली भी महसूस होता है। वहीं, शुगर में बैक्टीरिया का जीवन यापन आसानी से हो पाता है। इस कारण हर्निया के ऑपरेशन के बाद रिकवरी में अधिक समय लग सकता है। शुगर का सेवन आपको कमजोर करेगा और जर्म्स को मजबूती प्रदान करेगा।

पढ़ें- बिना सर्जरी अम्बिलिकल हर्निया का इलाज

4. जंक फूड

जंक फूड, जैसे- पिज्जा, बर्गर, सैंडविच आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे पाचन खराब होता है और कब्ज की शिकायत होती है। इसके साथ तैलीय और मिर्च मसाले वाले पदार्थों के सेवन से परहेज करें। कोल्ड ड्रिंक्स, प्रोसेस्ड फूड आदि का सेवन करने से परिस्थिति सुधरने के बजाय बिगड़ सकती है।

5. शराब

सर्जरी के बाद होने वाले मानसिक तनाव को दूर करने के लिए बहुत से लोग शराब पीना पसंद करते हैं। यह उचित नहीं है। शराब पीने से इम्यून सिस्टम कमजोर होता है जिससे इन्फेक्शन के चांसेस बहुत ज्यादा होते हैं। इसके अलावा शराब पीने से ब्लड वेसल्स फूल जाते हैं जिससे सर्जरी वाले स्थान पर सूजन आ जाता है और यह दर्द देता है। इसलिए सर्जरी से अच्छी रिकवरी के लिए शराब का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

निष्कर्ष-

अगर आप ऊपर बताए गए तर्क को हर्निया की सर्जरी के बाद शामिल करते हैं तो आपको रिकवरी के दौरान होने वाली परेशानियों से निजात मिलेगा और आप जल्द ही स्वस्थ होकर अपने सामान्य जीवन में पुनः वापिस आ सकेंगे।