argipreg-sachet-uses-in-pregnancy-in-hindi

आर्जीप्रेग पाउच क्या है  

आर्जीप्रेग पाउच में L-arginine मौजूद होता है जो एक गैर-आवश्यक अमीनो एसिड है। यह डाइट से प्राप्त होता है और शरीर को प्रोटीन बनाने के लिए आवश्यक है। यह एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है। इसका काम शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ाना और कोशिकाओं से हानिकारक कणों को बहार निकालना है। Argipreg Sachet Uses in Pregnancy in Hindi आर्जीप्रेग पाउच का इस्तेमाल ढेरों परेशानियां, स्थितियों, लक्षणों और बीमारियों की रोकथाम तथा उन्हें ठीक करने के लिए किया जाता है।   

आर्जीप्रेग पाउच का इस्तेमाल और फायदे 

प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोन में असंतुलन होने के कारण आपके शरीर में ढेरों बदलाव आते हैं। इसमें खून की कमी होना, ब्लड प्रेशर बढ़ना, कमजोरी होना, थकान होना और गैस की वजह से सीने में जलन और दर्द होना आदि शामिल हैं। प्रेगनेंसी के दौरान आपके शरीर में होने वाली हर एक परेशानी आपके शिशु को प्रभावित करती है। (और पढ़ें: बवासीर में क्या खाएं और क्या नहीं?)

इसलिए डॉक्टर आपको हेल्दी खाना खाने, अधिक मात्रा में पानी पीने और अपनी सेहत का अच्छे से ख्याल रखने की सलाह देते हैं। कई बार इन सभी चीजों का पालन करने के बाद भी आपके सामने समस्याएं आ जाती हैं, ऐसे में उन समस्याओं से बचने के लिए आप आर्जीप्रेग पाउच का इस्तेमाल कर सकती हैं।             

  • सीने के दर्द को दूर करना 
  • खून की कमी को पूरा करना 
  • शिशु के विकास में मदद करना 
  • गर्भ की थैली में पानी की कमी को पूरा करना 
  • गर्भ में पल रहे शिशु तक पोषक तत्व पहुंचाना 
  • शरीर में फोलेट की आवश्यकता में वृद्धि लाना 
  • ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखता है सूजन को कम करना 

इस दवा के इस्तेमाल के ढेरों फायदे हैं लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं। इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन करने से बचना चाहिए। Argipreg Sachet Uses in Pregnancy in Hindi आर्जीप्रेग पाउच का इस्तेमाल प्रेगनेंसी के अलावा और भी दूसरी चीजों के लिए किया जाता है। जिसमें यौन विकार, पुरुषों में बांझपन, कुपोषित बच्चों में दस्त, सामान्य जुखाम आदि शामिल हैं।  

प्रेगनेंसी में आर्जीप्रेग पाउच के नुकसान 

प्रेगनेंसी के दौरान आर्जीप्रेग पाउच का सेवन करने के कुछ संभावित दुष्प्रभाव यानी की नुकसान भी हैं। आपको इन खास चीजों को ध्यान में रखना चाहिए। अगर आप इनमें से किसी एक चीज को भी अपने अंदर महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर से मिलकर उन्हें अपनी परेशानी के बारे में बताएं। लंबे समय तक इन्हे नजरअंदाज करना आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है।      

  • पेट फूलना 
  • गुस्सा आना 
  • एलर्जी होना 
  • जी मिचलाना
  • पेट में गैस होना
  • चिड़चिड़ापन होना
  • मुंह का स्वाद खराब होना  
  • नींद सोने का पैटर्न बदल जाना 
  • किसी भी चीज में मन नहीं लगना 

इन सब के अलावा भी आपको दूसरे नुकसान भी हो सकते हैं। ज्यादा परेशानी होने पर इसके सेवन को रोक देना चाहिए और तुरंत अपने डॉक्टर से मिलकर इस बारे में बताना चाहिए ताकि वे इसके दुष्प्रभाव को जल्दी से जल्दी रोक सकें। 

आर्जीप्रेग पाउच से संबंधित कुछ सावधानियां 

प्रेगनेंसी की स्थिति में आर्जीप्रेग पाउच का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करनी चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी दूसरी दवा का सेवन कर रही हैं तो उसके बारे में बताना चाहिए। प्रेगनेंसी के दौरान कई बार महिलाएं दूसरी चीजें जैसे की विटामिन, हर्बल और सप्लीमेंट का सेवन करती है। ऐसी स्थिति में आर्जीप्रेग पाउच का सेवन शायद नुकसानदायक साबित हो सकता है। Argipreg Sachet Uses in Pregnancy in Hindi यही कारण है की डॉक्टर आपको कोई भी नई दवा के सेवन का सुझाव देने से पहले आपकी पहले से चल रही दवाओं और आपके डाइट में शामिल चीजों के बारे में जानकारी लेते हैं। (इसे भी पढ़ें: प्रेगनेंसी में क्या खाएं और किस से करें परहेज

  • जो लोग शराब का सेवन करते हैं उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए।   
  • प्रेगनेंट महिला को डॉक्टर से सुझाव देने के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए।   
  • जिनके अंदर विटामिन बी की कमी होती है उन्हें इस दवा के इस्तेमाल से बचना चाहिए।   
  • एलर्जी की समस्या होने पर डॉक्टर से बात करने के बाद इसका इस्तेमाल करना चाहिए।   
  • पहले से ही किसी दूसरे सप्लीमेंट का सेवन की स्थिति में इसके सेवन से बचना चाहिए फिर डॉक्टर से सलाह लेने के बाद इसका सेवन करना चाहिए। 
  • अगर आपको पहले लिवर से संबंधित बीमारी हो चुकी है तो इस दवा का सेवन आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।   
  • अगर आप अपने शिशु को स्तनपान कराने की सोच रहे हैं तो आपको इसके सेवन से बचना चाहिए क्योंकि आपके शिशु पर इसका बुरा असर पड़ सकता है।   

हर दवा की तरह आर्जीप्रेग पाउच के भी कुछ साइड इफेक्ट्स हैं जिसके बारे में आपको जानना आवश्यक है। आपकी शारीरिक स्थिति या या फिर इसका अधिक मात्रा में सेवन करना आपके लिए परेशानियां खड़ी कर सकता है। Argipreg Sachet Uses in Pregnancy in Hindi इसलिए इसका सेवन बिलकुल वैसे ही करना चाहिए जैसा आपके डॉक्टर ने बताया है। अगर इस दवा का सेवन करने के बाद आपकी स्थिति में सुधार न हो या फिर आपकी हालत ज्यादा गंभीर हो जाए तो तुरंत इसका सेवन रोक कर अपने डॉक्टर से मिलना तथा इस दवा के प्रभाव के बारे में बताना चाहिए। 

डॉक्टर के संपर्क में रहना क्यों आवश्यक है  

जैसा की आप जानती हैं प्रेगनेंसी एक बहुत ही खूबसूरत और नाजुक पल होता है। इस दौरान जरा सी भी लापरवाही आपके साथ साथ आपके गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी खतरनाक साबित हो सकती है। जैसा की हम पहले ही आपको बता चुके हैं की जहां एक तरफ प्रेगनेंसी में आर्जीप्रेग पाउच का सेवन करने के ढेरों फायदे हैं वही इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे की पेट फूलना, जी मिचलाना, एलर्जी होना, तनाव होना, नींद सोने का टाइम टेबल बदल जाना आदि। ऐसा होने से आपकी गर्भावस्था पर बुरा असर पड़ता है और आपका गर्भपात तक भी हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में कैसे रखें अपना ख्याल

इसलिए अगर आपको किसी तरह की कोई समस्या है तो सबसे पहले स्त्री-रोग विशेषज्ञ से मिलकर परामर्श करें। उन्हें अपनी समस्या के बारे में बताएं और फिर उनकी सलाह के बाद ही आर्जीप्रेग या दूसरी किसी भी दवा का सेवन करें। प्रेगनेंसी में अपने मन मुताबिक़ इस दवा का इस्तेमाल करना गलत है। प्रिस्टीन केयर के पास देश के सबसे बेहतरीन स्त्री-रोग विशेषज्ञ मौजूद हैं। प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह की परेशानी से बचने तथा नॉर्मल डिलीवरी के लिए आप इनसे संपर्क कर सकती हैं। ये आपकी पूरी मदद करेंगी। 

आगे पढ़ें

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *