home-remedies-to-increase-sperm-count-in-hindi

पुरुष में स्पर्म काउंट कम होने यानी की शुक्राणुओं की कमी को आम भाषा में बांझपन, नपुंसकता या नामर्दी कहा जाता है। जिस पुरुष में शुक्राणुओं की संख्या कम या सामान्य होती है उनकी शुक्राणुओं की गतिशीलता भी कम होती है और यह दोनों बातें ही एक पुरुष में नपुंसकता के खास कारण होते हैं। अगर एक पुरुष के प्रति मिलीलीटर स्पर्म में 15 मिलियन से कम शुक्राणु पाए जाते हैं तो उसे सामान्य स्पर्म काउंट से कम माना जाता है। 

इसे पढ़ें: पुरुषों में इनफर्टिलिटी के प्रकार, कारण और इलाज के तरीके

स्पर्म काउंट कम होने के कारण मेल स्पर्म फीमेल एग को फर्टिलाइज नहीं करते हैं जिसके कारण महिला को गर्भधारण करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नपुंसकता की स्थिति में स्पर्म की क्वालिटी और क्वांटिटी दोनों ही बुरी तरह से प्रभावित होती हैं जिसके कारण पुरुष पिता बनने में असमर्थ होता है। स्पर्म काउंट बढ़ाने तथा इसकी क्वालिटी को सुधारने के लिए बाजार में कई तरह की एलोपैथी, आयुर्वेदिक और होम्योपैथी दवाएं मौजूद हैं जिनकी मदद से इस समस्या को दूर किया जा सकता है। 

आगे पढ़ें: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का घरेलू इलाज

लेकिन आज इस ब्लॉग के जरिए हम आपको उन सभी बेहद ही खास और महत्वपूर्ण प्राकृतिक उपायों एवं घरेलू नुस्खों के बारे में बताएंगे जो आपके स्पर्म काउंट को बढ़ाने तथा स्पर्म की क्वालिटी को ठीक करने के साथ साथ आपकी सेक्सुअल लाइफ को भी पहले से बेहतर बनाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे। इस ब्लॉग को पूरा पढ़ने के बाद आप स्पर्म से संबंधित परेशानियों को बहुत आसानी से दूर कर पाएंगे।         

Table of Contents

स्पर्म काउंट कम होने के कारण — Causes of Low Sperm Count in Hindi — Sperm Count Kam Hone Ke Kaaran 

आज से सालों पहले नपुंसकता को एक अभिशाप के रूप में देखा जाता था। लेकिन आज यह समस्या लगभग आम परेशानी बन चुकी है जिससे अच्छी खासी युवा पीढ़ी पीड़ित है। लाइफस्टाइल खराब होना तथा केमिकल से भरपूर चीजों का सेवन करना स्पर्म काउंट कम यानि की नपुंसक होने का सबसे बड़ा कारण है। इसके अलावा भी और कई कारण हैं जिसकी वजह से शुक्राणुओं की मात्रा और गुणवत्ता में कमी आती है। इसमें खान पान में पोषक तत्वों की कमी होना, आलस्य भरा जीवन जीना, शारीरिक काम कम से कम करना, व्यायाम न करना, कुछ जटिल बीमारियों से पीड़ित होना, सिगरेट, शराब और दूसरी नशीली चीजों का सेवन करना, तनाव में रहना, अधिक उम्र होना आदि शामिल हैं।

आगे पढ़ें: टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies For Testosterone)

अगर आप एक हेल्दी लाइफस्टाइल अपना कर कुछ ख़ास चीजों पर ध्यान देने के बाद थोड़ी बहुत सावधानियां बरतें तो आप खुद को इस समस्या से दूर और सुरक्षित रख सकते हैं। आपको अपने खान पान में पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को शामिल करना चाहिए, रोजाना सुबह या शाम में हल्का फूलका व्यायाम करना चाहिए और खुद को हमेशा तनाव मुक्त, खुश और फ्रेश रखने की कोशिश करनी चाहिए।   

आगे पढ़ें: पीआरपी थेरेपी — प्रक्रिया, फायदे और नुकसान      

स्पर्म काउंट बढ़ाने के घरेलू उपाय — Home Remedies To Increase Sperm Count in Hindi — Sperm Count Badhaane Ke Gharelu Upay 

अनार स्पर्म काउंट बढ़ाने का बढ़िया घरेलू उपाय है — Pomegranate is The Best Home Remedy To Increase Sperm Count in Hindi — Anaar Sperm Count Badhane Ka Badhiya Gharelu Upay Hai

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए अनार बढ़िया घरेलू उपायों में से एक है। इसकी मदद से आप घर बैठे मात्र कुछ ही दिनों में अपने स्पर्म की क्वांटिटी और क्वालिटी दोनों को काफी हद तक बढ़ा सकते हैं। अनार का सेवन आपकी नपुंसकता को प्रभावशाली तरीके से दूर करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो नए स्पर्म का तेजी से निर्माण करने में मदद करते हैं। नियमित रूप से कुछ दिनों तक रोज सोने से 1-2 घंटे पहले अनार का जूस पिएं। कुछ दिनों के बाद आपके स्पर्म के काउंट तथा उसकी गतिशीलता में बढ़ोतरी का आभास होगा।  

इसे भी पढ़ें: सेक्‍स एजुकेशन से जुड़ी बातें

कद्दू का बीज स्पर्म काउंट बढ़ाने का काम करता है — Pumpkin Seed Increases Sperm Count in Hindi — Kaddu Ka Bij Sperm Count Badhane Ka Kaam Karta Hai

कद्दू के बीज में जिंक और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाए जाते हैं जो पुरुष के ऑर्गन में ब्लड फ्लो और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने का काम करते हैं। शुक्राणूओं की संख्या और उसकी गुणवत्ता को बढ़ाने का यह एक प्रभावशाली तरीका है। अगर आप नपुंसकता से परेशान हैं, लाख कोशिश करने के बाद भी पिता का सुख प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं तो यह आपके लिए रामबाण इलाज हो सकता है। नियमित रूप से कुछ सप्ताह तक रोजाना दिन में दो बार आधा मुट्ठी कद्दू के बीज का सेवन करें। स्पर्म काउंट बढ़ाने के साथ साथ यह टेस्टोस्टेरोन को भी बढ़ाता है। इसका सेवन करने से आपको पॉजिटिव रिजल्ट देखने को मिलेगा।  

आगे पढ़ें: प्राइवेट पार्ट्स का कालापन कैसे दूर करें

आरंडी के पत्तों से स्पर्म काउंट बढ़ाया जा सकता है — Sperm Count Can Be Increased With Castor’s Leaves in Hindi — Aarandi Ke Patto Se Sperm Count Badhaya Ja Sakta Hai

आरंडी एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसके अंदर ढेरों औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह शुक्राणुओं की संख्या तथा गुणवत्ता बढ़ाने का सबसे बेहतरीन तरीका है। इसका इस्तेमाल करने के लिए आप सबसे पहले आरंडी के कुछ पत्तों को धुप में सुखाकर उन्हें पीसें। पीसने के बाद उनका पाउडर तैयार करें और फिर आधा चम्मच पाउडर में दो चमच शहद मिलाकर रोजाना सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। लगभग दो सप्ताह तक इसका सेवन करने के बाद आप अपने स्पर्म काउंट की जांच करवा सकते हैं। आरंडी के पत्ते के पाउडर में शहद मिलाकर उसका सेवन करने से स्पर्म की संख्या और गुणवत्ता तेजी से बढ़ती है। यह स्पर्म को गाढ़ा और मजबूत भी बनाता है जिससे आपको पिता बनने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आएगी।             

इसे पढ़ें: फाइमोसिस के प्रकार, लक्षण, कारण और इलाज

अखरोट स्पर्म क्वालिटी और क्वांटिटी के लिए फायदेमंद है — Walnut Increases Sperm Quality And Quantity in Hindi — Akhrot Sperm Quality Aur Quantity Ke Liye Faydemand Hota Hai 

अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड और दूसरे तत्व पाए जाते हैं जो मेल ऑर्गन्स में ब्लड फ्लो और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने का काम करते हैं। अखरोट स्पर्म को बेहतर बनाने के साथ साथ आपके शरीर को भी मजबूत और दिमाग को तेज बनाता है। कुछ दिनों तक रोजाना 50 ग्राम अखरोट का सेवन दिन में दो बार करने से आपके शुक्राणु पहले बेहतर हो जाएंगे। आप चाहें तो अखरोट को दूध के साथ भी ले सकते हैं। इसका सेवन करने से मर्दाना ताकत और स्टेमिना में बढ़ोतरी होती है जिससे आपकी सेक्सुअल लाइफ में आनंद बढ़ जाता है

इसे भी पढ़ें: हाइड्रोसील के प्रकार, कारण, लक्षण और बेस्ट इलाज

केला शुक्राणुओं के लिए फायदेमंद होता है — Banana is Good For Sperm in Hindi — Kela Shukranu Ke Liye Faydemand Hota Hai

केला के अनेकों फायदे हैं। आप इसे सुबह में नाश्ता के तौर पर खा सकते हैं, व्यायाम करने के बाद शरीर को बूस्ट करने के लिए इसका शेक या जूस पी सकते हैं। इसमें ब्रोमिलेन नामक एंजाइम और विटामिन बी मौजूद होते हैं। जो स्टेमिना, एनर्जी और स्पर्म की क्वांटिटी और क्वालिटी को बढ़ाने का काम करते हैं। अगर आपके शुक्राणुओं की संख्या कम है, अगर आप नपुंसकता से पीड़ित हैं तथा पिता का सुख प्राप्त करने में असमर्थ हैं तो केला का सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। नियमित रूप से रोजाना सुबह और शाम में दो दो केला का सेवन करने से स्पर्म से संबंधित आपकी परेशानियां खत्म हो जाएंगी।        

इसे भी पढ़े: हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान — Pros and Cons of Masturbation in Hindi

अंडा स्पर्म काउंट को बढ़ाने में मदद करता है — Egg Helps in Increasing Sperm Count in Hindi — Anda Sperm Count Badhane Me Madad Karta Hai 

जो लोग नॉन वेज खाना पसंद करते हैं उनके लिए अंडा काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। अंडे के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिन ई मौजूद होता है जो स्पर्म की क्वालिटी और क्वांटिटी को बढ़ाने के लिए आवश्यक है। फ्री रेडिकल्स प्रभावित होने के कारण शुक्राणु की संख्या बहुत तेजी से कम होती है लेकिन अंडे की मदद से इसे रोका जा सकता है। अगर आपका स्पर्म काउंट कम है तो आपको अंडा को अपने नाश्ते में शामिल करना चाहिए। क्योंकि यह नए स्पर्म के निर्माण को बहुत प्रभावशाली तरीके से बढ़ाते है। जिसके कारण स्पर्म की संख्या सामान्य से बढ़कर अधिक हो जाती है और नपुंसकता की समस्या खत्म हो जाती है।

इसे पढ़ें: रिसर्च — क्या तनाव से बांझपन आता है  

पालक नपुंसकता की समस्या को दूर कर सकता है — Spinach Cures Impotence in Hindi — Palak Napunsakta Ki Samasya Ko Dur Kar Sakta Hai 

अगर आपके स्पर्म काउंट और उसकी गुणवत्त्ता कम है तथा आप नपुंसकता के शिकार हैं तो आपको पालक का सेवन करना चाहिए। क्योंकि इसमें फॉलिक एसिड मौजूद होता है जो स्पर्म की गुणवत्ता को बेहतर बनाने तथा स्पर्म काउंट को बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाता है। नियमित रूप से कुछ दिनों तक पालक का सेवन करने से फर्टिलिटी मजबूत होगी जिसके कारण आप पिता बनने की खुशी हासिल कर सकते हैं।  (इसे भी पढ़ें: सेक्स करने का सबसे बेस्ट तरीका)

लहसुन स्पर्म के लिए फायदेमंद होता है — Garlic is Good For Sperm in Hindi — Lahsun Sperm Ke Liye Faydemand Hota Hai

जैसे लहसुन का इस्तेमाल किसी भी खान पान की चीज का जायका बढ़ा देता है, वैसे ही इसका इस्तेमाल स्पर्म काउंट को भी बढ़ा देता है। लहसुन में एलिसिन नामक कंम्पाउंड पाया जाता है जो पुरुष के शरीर में ब्लड फ्लो तथा ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। अगर आप अपने स्पर्म की काउंट और क्वालिटी को बढ़ाना चाहते हैं तो रोजाना दिन में दो बार कुछ सप्ताह तक लहसुन की 4-5 कलियों को चबा कर खाएं। कुछ दिनों के बाद आपको पॉजिटिव रिजल्ट दिखने शुरू हो जाएंगे। 

और पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने का सबसे बेस्ट तरीका

गाजर के सेवन से नामर्दी दूर होती है — Carrot Cures Infertility in Hindi — Gajar Ke Sevan Se Namardi Dur Hoti Hai

जब किसी पुरुष के स्पर्म की क्वालिटी और क्वांटिटी में कमी आती है तो वह नामर्दी का शिकार हो जाता है। नामर्दी का शिकार होने की स्थिति में पुरुष न ही सेक्सुअल लाइफ में अच्छे से परफॉर्म कर पाता है और न ही उसे संतुष्टि मिलती है। स्पर्म काउंट कम होने तथा उसकी गुणवत्ता खराब होने के कारण स्पर्म फीमेल एग को फर्टिलाइज नहीं कर पाते हैं जिसके कारण महिला को गर्भधारण करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अगर आप इन सभी लक्षणों, परेशानियों और कमजोरियों को दूर करना चाहते हैं तो आपको गाजर का सेवन करना चाहिए। आप गाजर को एक फल के रूप भी खा सकते हैं या चाहें तो इसका जूस बनाकर पी भी सकते हैं।       

इसे पढ़ें: प्रेगनेंसी के दौरान सेक्स करने का सबसे बेहतरीन तरीका

इन सब अलावा भी बहुत से ऐसे घरेलू उपाय हैं जिनका इस्तेमाल कर आप अपने स्पर्म काउंट को बहुत आसानी से बढ़ा सकते हैं। इसमें दूध के साथ खजूर का सेवन, ब्रोकली का सेवन, डार्क चॉकलेट, ऑइस्टर, भैंस का दूध के साथ अंगूर के रस का सेवन, दूध के साथ बादाम का सेवन, इलायची का सेवन, जायफल पाउडर, शतावरी, अश्वगंधा आदि का सेवन शामिल है।  

इसे पढ़ें: स्तन लिफ्ट सर्जरी — उपचार, प्रक्रिया, जोखिम, फायदे, नुकसान और लागत       

निष्कर्ष — Conclusion 

जीवन की गाड़ी बहुत तेज गति से आगे भाग रही है और इसके पीछे पीछे सभी पुरुष भाग रहे हैं। इस भागदौड़ में पुरुष खुद के लिए थोड़ा भी समय नहीं निकाल पाते हैं। समय नहीं निकाल पाने के कारण वे अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। ध्यान न देने के कारण उन्हें इस बात का भी अंदाजा नहीं होता है की वे पूरे दिन भर में क्या खाते हैं और क्या पीते हैं, कितने बजे सोते हैं और कितने बजे जगते हैं। ध्यान न देने के कारण इन सभी चीजों के बीच का तालमेल बिगड़ जाता है। खान पान में बदलाव आते हैं और अंतत लाइफस्टाइल खराब यानी की अनहेल्दी हो जाती है तथा सेक्सुअल लाइफ से संबंधित परेशानियां भी होनी शुरू हो जाती हैं। स्पर्म काउंट कम होना, स्पर्म की क्वालिटी खराब होना, नामर्दी, नपुंसकता या बांझपन का शिकार होना भी इन्ही में से एक है। जिसका समय पर सही इलाज आवश्यक है।

इसे पढ़ें: योनि में कसावट लाने का सबसे बेस्ट तरीका

अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आप ऊपर बताए गए घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर छुटकारा पा सकते हैं। यदि इन सभी चीजों का इस्तेमाल करने के बाद भी आपकी समस्या में जरा भी फर्क न आए, उसमें जरा भी सुधार न आए तो आपको बिना देरी किए डॉक्टर से मिलकर उन्हें अपनी परेशानी के बारे में विस्तार से बताना चाहिए। वे आपकी जांच करने के बाद आपकी बीमारी के पीछे के सटीक कारणों का पता लगाकर आपको सबसे बेहतर इलाज के माध्यम का सुझाव देंगे। उनके इलाज और सुझाव की मदद से आपकी परेशानियां जड़ से खत्म हो जाएंगी।           

और पढ़ें

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *