penis-inflammation-in-hindi

लिंग की चमड़ी में होने वाले सूजन को पेनाइल सूजन भी कहा जाता है और मेडिकल की भाषा में बैलेनाइटिस के नाम भी जाना जाता है। इस बीमारी से पीड़ित पुरुष के लिंग के अगले हिस्से में सूजन आ जाती है। आमतौर पर यह इंफेक्शन के कारण होता है। लिंग में सूजन आने के कारण आपको दर्द और तकलीफ हो सकती है। ध्यान न देने या समय पर इसका इलाज न कराने से यह गंभीर रूप भी ले सकता है जिसके कारण आपकी परेशानियां और अधिक बढ़ सकती हैं। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj आमतौर पर इस समस्या का इलाज करने के लिए डॉक्टर टॉपिकल क्रीम का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। 

इसे पढ़ें: फाइमोसिस के प्रकार, लक्षण, कारण और इलाज

यह बीमारी किसी भी पुरुष को प्रभावित कर सकती है। लेकिन जिस पुरुष का खतना नहीं हुआ होता है उनमें यह बीमारी अधिकतर पाई जाती है। जिसका खतना हो चुका होता है उनके लिंग के आगे की चमड़ी को खतना के दौरान काटकर अलग कर दिया जाता है जिसके कारण उन्हें यह बीमारी होने की संभावना लगभग खत्म हो जाती है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj लेकिन जिनका खतना नहीं हुआ है उन्हें इस बीमारी से बचने के लिए अपने लिंग के सामने की चमड़ी (जिसे हम फोरस्किन के नाम से जानते हैं) की देखभाल करनी चाहिए तथा समय समय पर हल्का गर्म पानी से उसकी सफाई करनी चाहिए। 

इसे पढ़ें: पुरुषों में इनफर्टिलिटी के प्रकार, कारण और इलाज के तरीके

डॉक्टर का कहना है की 4 साल से कम उम्र के बच्चों में यह समस्या होने की संभावना अधिक होती है। जो की कुछ समय के बाद अपने आप ठीक हो सकती है लेकिन अगर यही समस्या वयस्क में हो जाए तो इलाज की आवश्यकता पड़ती है। जो लोग फाइमोसिस (फिमोसीस) से पीड़ित होते हैं उन्हें यह समस्या होने का खतरा अधिक होता है। क्योंकि फाइमोसिस की स्थिति में लिंग की ऊपरी चमड़ी काफी टाइट हो जाती है जिसके कारण उसे पीछे हटाने में परेशानी होती है। चमड़ी पीछे न हटने के कारण इंफेक्शन, सूजन, दर्द और जलन होने की संभावना भी बढ़ जाती है।                  

लिंग की चमड़ी में सूजन के कारण — Causes Of Penis Inflammation In Hindi — Ling (Ling Ki Chamdi) Me Sujan Ke Kaaran —  Ling Me Sujan Kyu Hota Hai

लिंग की चमड़ी में कई कारणों से सूजन हो सकते हैं। अगर आपको पहले से इन कारणों के बारे में पता हो तो आप कुछ सावधानियां बरतने के बाद बहुत आसानी से इस बीमारी की रोकथाम कर सकते हैं। स्मेग्मा के कारण लिंग की चमड़ी में सूजन की समस्या पैदा होती है। यह एक प्राकृतिक रूप से चिकना करने वाला पदार्थ है जो लिंग में नमी बनाए रखता है। जिसके कारण लिंग की सफाई नहीं हो पाती है और संक्रमण पैदा हो जाता है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj फफुन्दीय संक्रमण भी बैलेनाइटिस के कारणों में से एक है। जीवाणु संबंधित संक्रमण से पीड़ित होना एक बहुत ही सामान्य प्रकार का जीवाणु होता है जो बैलेनाइटिस का कारण बन सकता है।

इसे पढ़ें: यूरिन इंफेक्शन में खानपान — यूटीआई होने पर क्या खाएं और क्या नहीं

किसी चीज के प्रति एलर्जी तथा स्किन में जलन होने के कारण लिंग में सूजन हो सकता है। आमतौर यह केमियाल वाले साबुन, शैंम्पू, क्रीम या पाउडर का इस्तेमाल करने से हो सकता है। एटॉपिक एक्जिमा या सोरिएसिस जैसी अंडरलाइंग स्किन डिजीज से पीड़ित होने की स्थिति में लिंग की चमड़ी में सूजन होने का खतरा बढ़ जाता है। योनि संक्रमण से पीड़ित महिला के साथ सेक्स करने से लिंग में सूजन पैदा हो सकता है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj यौन संचारित बीमारियां जैसे की जननांग दाद, क्लैमाइडिया प्रमेह या सिफलिस आदि भी लिंग में सूजन का कारण बन सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: हाइड्रोसील के प्रकार, कारण, लक्षण और इलाज

अगर आप सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बैलेनाइटिस होने की संभावना रहती है क्योंकि कंडोम में प्रयोग होने वाले लेटेक्स से लिंग में जलन पैदा हो सकती है। लाइकेन प्लेनस शरीर को प्रभावित करने वाला एक गैर-संक्रामक और खुजलीवाला चकत्ता है जो लिंग को प्रभावित करता है। लाइकेन स्क्लेरोसस प्राइवेट पार्ट्स में होने वाली एक स्किन डिजीज है जिससे पीड़ित पुरुष को बैलेनाइटिस होने का खतरा होता है। जुंस बैलेनाइटिस एक असामान्य बीमारी है जो मध्यम आयु वर्ग के पुरुषों को सबसे अधिक प्रभावित करती है। इससे पीड़ित होने की स्थिति में लिंग का सिर लाल हो जाता है तथा उसमें सूजन, जलन और खुजली होती है।      

इसे भी पढ़ें: वैरीकोसेल का आयुर्वेदिक इलाज

कुंडलाकार बैलेनाइटिस एक तरह का सोरिएसिस है जो प्रतिक्रियाशील गठिया से पीड़ित पुरुषों को प्रभावित करता है। इसके कारण लिंग की चमड़ी और सिर पर लाली, जलन, सूजन, दर्द और खुजली होती है। जिसकी वजह से पेशाब करने में परेशानी होती है। इन सबके अलावा भी बहुत से ऐसे कारण हैं जिसकी वजह से एक पुरुष के लिंग की चमड़ी में सूजन की समस्या पैदा हो सकती है। 

लिंग की चमड़ी में सूजन के लक्षण — Symptoms Of Penis Inflammation In Hindi — Ling Ki Chamdi Me Sujan Ke Lakshan  

लिंग की चमड़ी में सूजन होते ही आप अपने लिंग में लक्षण के रूप में कई तरह के बदलाव देख सकते हैं। अगर आप इन लक्षणों पर ध्यान देने के बाद तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें तो आपकी बीमारी की रोकथाम इसके शुरूआती स्टेज में ही की जा सकती है। इसके लक्षणों में लिंग के सिर के चारों तरफ लालिमा छाना, सूजन होना, जलन और दर्द की शिकायत होना, लिंग की ऊपरी चमड़ी के नीचे से गाढ़ा स्राव होना, चकत्ते और अल्सर की शिकायत होना, लिंग और उसके आसपास तेज खुजली होना, कभी कभी लिंग से बदबू आना, लिंग की स्किन का टाइट होना, लिंग के स्किन को पीछे की तरफ करने में परेशानी होना, पेशाब करते समय दर्द और जलन होना आदि शामिल हैं।   

इसे पढ़ें: योनि में कसावट लाने का सबसे बेस्ट तरीका        

अगर आप ऊपर बताए गए किसी भी लक्षण को खुद में अनुभव करते हैं तो बिना देरी किए तुरंत डॉक्टर से मिलें। वे आपके लिंग की जांच करने के बाद आपको सबसे बेहतरीन और स्थायी इलाज का सुझाव देंगे। जिसकी मदद से आप अपनी परेशानी से काफी कम समय में हमेशा के लिए छुटकारा पा लेंगे।    

लिंग की चमड़ी में सूजन का इलाज — Treatment Of Penis Inflammation In Hindi —  Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj Kaise Kiya Jata Hai 

लिंग की चमड़ी में सूजन का इलाज कई तरह से किया जा सकता है। लेकिन डॉक्टर इसके कारणों को जानने के बाद उपचार के विकल्प का चुनाव करते हैं। ज्यादातर मामलों में डॉक्टर सबसे पहले मरीज को खुद के प्राइवेट पार्ट्स और खासकर लिंग को हल्का गर्म पानी से साफ करने का सुझाव देते हैं। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj इसके बाद वे केमिकल युक्त या सुगंध वाले साबुन, पाउडर, क्रीम, लोशन, परफ्यूम, स्प्रे या दूसरी उन सभी चीजों का इस्तेमाल करने से मना करते हैं जो लिंग में खुजली, जलन, इंफेक्शन या दर्द का कारण बन सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: स्तन लिफ्ट सर्जरी — उपचार, प्रक्रिया, जोखिम, फायदे, नुकसान और लागत

लाइफस्टाइल में सकारात्मक बदलाव लाने तथा नियमित रूप से लिंग की साफ सफाई रखने के बाद लिंग के सूजन कि समस्या लगभग आधी खत्म हो जाती है। फिर इसके गंभीरता को देखते हुए डॉक्टर कुछ खास क्रीम या दवा के इस्तेमाल का सुझाव देते हैं। लिंग की चमड़ी में सूजन का इलाज करने के लिए डॉक्टर एंटीफंगल क्रीम के इस्तेमाल की सलाह देते हैं। लेकिन अगर सूजन का कारण एलर्जी प्रतिक्रिया है तो डॉक्टर स्टेरॉयड क्रीम का इस्तेमाल करने कि सलाह दे सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: गर्भपात के बाद गर्भधारण — संभावना, खतरा, सावधानियां और उपाय

क्रीम के अलावा, डॉक्टर आपको कुछ एंटीफंगल या एंटीबायोटिक दवाओं के सेवन का सुझाव भी दे सकते हैं। जिसे आप किसी भी मेडिकल शॉप से खरीद कर डॉक्टर द्वारा बताए गए तरीके से उसका उपयोग कर सकते हैं। लेकिन आपको इस बात का भी ध्यान रखना है कि बिना डॉक्टर के सुझाव के किसी भी चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj अगर आपको किसी तरह के इंफेक्शन या एलर्जी से संबंधित प्रॉब्लम है तो लिंग के सूजन को ठीक करने कि नियत से आपको अपने मन मुताबिक किसी भी क्रीम, लोशन या दवा का उपयोग नहीं करना चाहिए। 

इसे पढ़ें: प्रेगनेंट नहीं होने के कारण और इलाज

ऐसा करना आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है तथा आपकी समस्या और गंभीर रूप ले सकती है। आपको अपनी तरफ से पूरी कोशिश करनी चाहिए कि आप खुद को उन सभी चीजों से दूर रखें जो आपकी समस्या तथा उससे संबंधित परेशानियों को बढ़ा सकती हैं। कई बार क्रीम, लोशन और दवाओं का इस्तेमाल करने पर बैलेनाइटिस कि समस्या थोड़ी देर के लिए खत्म हो जाती है। लेकिन कई बार इन सभी दवाओं और क्रीम का असर खत्म होते ही आपकी बीमारी फिर से आपके सामने जैसी कि तैसी खड़ी हो जाती है। ऐसी स्थिति में खतना करना ही एकमात्र विकल्प बचता है। 

इसे भी पढ़ें: क्या गर्भपात में दर्द होता है

जैसा कि हम आपको ब्लॉग के शुरुआत में ही बता चुके हैं कि लिंग की चमड़ी के सूजन कि समस्या लंबे समय तक रहने के बाद वह दूसरी गंभीर परेशानियों का कारण बन सकती है जिसकी वजह से आपको दूसरी ढेरों समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj इसलिए क्रीम, लोशन, दवा या दूसरे तरीकों का इस्तेमाल करने के बाद भी आपकी समस्या खत्म नहीं होने पर डॉक्टर खतना करने का सुझाव देते हैं।    खतना की मदद से लिंग की चमड़ी के सूजन यानी की बैलेनाइटिस को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: खतना क्या है — करने का तरीका, फायदे और नुकसान

खतना दो तरह से किया जाता है, एक ओपन सर्जरी और दूसरा लेजर सर्जरी के जरिए। ओपन सर्जरी की तुलना में लेजर सर्जरी को अधिक प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि यह कम समय में पूरा हो जाता है। ओपन सर्जरी करने में लगभग आधे घंटे का समय लगता है। इसके दौरान बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होती है, कई बार टांके लगाने की नौबत भी आ जाती है। इतना ही नहीं, ओपन सर्जरी से खतना करने के बाद जख्म बनने, इंफेक्शन और दाग होने का खतरा भी अधिक होता है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj ओपन सर्जरी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद मरीज को ठीक होने में काफी लंबा समय लगता है। 

इसे पढ़ें: स्पर्म काउंट बढ़ाने के घरेलू उपाय

लेकिन लेजर सर्जरी के साथ ऐसी कोई बात नहीं है। लेजर सर्जरी की प्रक्रिया शुरू करने से पहले डॉक्टर मरीज से उसकी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछते हैं जैसे की पहले कभी उन्हें लिंग में किसी तरह का चोट लगा था या नहीं, इससे पहले उन्हें ऐसी कोई समस्या हुई है या नहीं आदि। फिर वे लिंग की जांच करते हैं, पेशाब की जांच करते हैं, फोरस्किन की जांच करते हैं, जरूरत पड़ने पर लिंग से स्वैब लेकर लैब में उसकी जांच करते हैं तथा मरीज से उनके लक्षणों के बारे में पूछते हैं, उनके सेक्सुअल लाइफ पर इस बीमारी का अगर कोई बुरा असर पड़ रहा है तो वह क्या है, यह समस्या उन्हें कब से है आदि।   

आगे पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने का सबसे बेस्ट तरीका

लेजर सर्जरी की प्रक्रिया लगभग 10-15 मिनट के अंदर पूरी हो जाती है। लेजर सर्जरी द्वारा खतना की प्रक्रिया शुरू करने से पहले डॉक्टर मरीज को जेनेरल अनेस्थिसिया देते हैं ताकि मरीज को खतना के दौरान किसी तरह की कोई परेशानी न हो और खतना सफलतापूर्वक पूरा किया जा सके। सर्जरी खत्म होने के बाद मरीज के लिंग की ड्रेसिंग की जाती है तथा कुछ ही घंटों के बाद फिर उसे हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया जाता है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj लेजर सर्जरी के बाद जख्म, इंफेक्शन या दाग होने का खतरा लगभग न के बराबर होता है।  इस प्रक्रिया के बाद मरीज बहुत ही कम समय में पूरी तरह से ठीक हो जाता है। 

इसे भी पढ़ें: सेक्स करने का सबसे बेस्ट तरीका — Sex Kaise Karte Hain

खतना के लगभग 48 घंटे के बाद मरीज अपने दैनिक जीवन के कामों को फिर से करने के लिए फिट हो जाता है लेकिन पूरी तरह से स्वस्थ होने में लगभग एक से दो सप्ताह का समय लगता है। लेजर द्वारा खतना करने के बाद फोरस्किन में किसी तरह की कोई दिक्कत या परेशनो होने का कोई भी डर नहीं होता है। लेजर सर्जरी द्वारा खतना पुरुष की प्रजनन क्षमता को किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं करता है तथा खतना के बाद सेक्सुएल लाइफ में भी किसी तरह कि कोई समस्या नहीं होती है। यह पूरी तरह से सफल और सुरक्षित प्रक्रिया है। खतना करने के बाद यौन संचारित बीमारियां, महिला मित्र में पेनाइल कैंसर या सर्वाइकल कैंसर तथा यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन्स होने का खतरा खत्म हो जाता है। अगर आपके लिंग की चमड़ी में सूजन है तो डॉक्टर से परामर्श करने के बाद आप लेजर सर्जरी से खतना करवाकर आप इस परेशानी को दूर कर सकते हैं।      

निष्कर्ष — Conclusion

लिंग कि चमड़ी में सूजन होना इतनी ज्यादा गंभीर समस्या नहीं है कि आपको इससे डरने या घबराने कि आवश्यकता है। लेकिन इसपर ध्यान देना, इसके लक्षणों को पहचानना और डॉक्टर से मिलकर इसका जांच और इलाज कराना आवश्यक है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj क्योंकि लंबे समय तक इसे नजरअंदाज करने से दूसरी कई गंभीर यौन संचारित बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। यह एक सामान्य समस्या है जो किसी भी उम्र के पुरुष को प्रभावित कर सकती है। इस बीमारी का खतरा सबसे अधिक उन पुरुषों को होता है जिनका खतना नहीं हुआ होता है। 

इसे पढ़ें: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का आयुर्वेदिक इलाज

अगर लिंग की चमड़ी में सूजन अपने शुरूआती स्टेज में है तो नियमित रूप से लिंग कि साफ सफाई करने तथा अपनी जीवनशैली में सकारात्मक बदलाव लाने से यह बीमारी कुछ समय के बाद अपने आप ही खत्म हो जाती है। Ling Ki Chamdi Me Sujan Ka Ilaj साफ सफाई से बदलाव नहीं आने पर डॉक्टर दवा और क्रीम का इस्तेमाल करने कि सलाह देते हैं। दवा या क्रीम के इस्तेमाल के बाद भी कोई फायदा नहीं होना इसकी गंभीरता कि तरफ इशारा करता है। इस स्थिति में खतना ही एकमात्र विकल्प बचता है। खतना कि मदद से इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है। 

इसे पढ़ें: प्राइवेट पार्ट्स का कालापन कैसे दूर करें

चमड़ी में सूजन यानी कि बैलेनाइटिस का सबसे बेस्ट इलाज खतना है। अगर आप अपने लिंग के सूजन से परेशान हैं और हमेशा के लिए इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो डॉक्टर से परामर्श करने के बाद अपना खतना करवा सकते हैं। खतना के बाद भविष्य में कभी भी आपको बैलेनाइटिस या फाइमोसीस जैसी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

आगे पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *