location
Get my Location
search icon
phone icon in white color

कॉल करें

निःशुल्क परामर्श बुक करें

अपेंडिक्स का इलाज क्या है? - अपेंडेक्टोमी सर्जरी

अपेंडेक्टोमी सर्जरी (Appendectomy Surgery) हर वर्ग के लोगों के लिए अपेंडिक्स का रामबाण इलाज है। इस प्रक्रिया के द्वारा अपेंडिसाइटिस से संबंधित हर प्रकार की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इस प्रक्रिया को अनुभवी सर्जन करते हैं, जो कम से कम चीरे के साथ पेट के दाहिने भाग में लगातार उठ रहे दर्द से छुटकारा दिला सकते हैं। इस प्रक्रिया से कम से कम दर्द के साथ अपेन्डिसाइटिस का उपचार संभव है।

अपेंडेक्टोमी सर्जरी (Appendectomy Surgery) हर वर्ग के लोगों के लिए अपेंडिक्स का रामबाण इलाज है। इस प्रक्रिया के द्वारा अपेंडिसाइटिस से संबंधित हर ... और पढ़ें

anup_soni_banner
डॉक्टर से फ्री सलाह लें
Anup Soni - the voice of Pristyn Care pointing to download pristyncare mobile app
i
i
i
i
स्टार रेटिंग
2 M+ संतुष्ट मरीज
700+ हॉस्पिटल
40+ शहर

आपके द्वारा दी गई जानकारी सुनिश्चित करने के लिए कृप्या ओटीपी डालें *

i

40+

शहर

Free Consultation

निशुल्क परामर्श

Free Cab Facility

मुफ्त कैब सुविधा

No-Cost EMI

नो-कॉस्ट ईएमआई

Support in Insurance Claim

बीमा क्लेम में सहायता

1-day Hospitalization

सिर्फ एक दिन की प्रक्रिया

USFDA-Approved Procedure

यूएसएफडीए द्वारा प्रमाणित

अपेंडिक्स का एलोपैथिक इलाज के डॉक्टर

Choose Your City

It help us to find the best doctors near you.

अहमदाबाद

बैंगलोर

भुवनेश्वर

चेन्नई

कोयंबटूर

दिल्ली

हैदराबाद

इंदौर

जयपुर

कोच्चि

कोलकाता

लखनऊ

मदुरै

मुंबई

नागपुर

पटना

पुणे

राँची

तिरुवनंतपुरम

विजयवाड़ा

विशाखापट्टनम

दिल्ली

गुडगाँव

नोएडा

अहमदाबाद

बैंगलोर

  • online dot green
    Dr. Falguni Rakesh Verma (klJ7Egw4gu)

    Dr. Falguni Rakesh Verma

    MBBS, MS - General Surgery
    27 Yrs.Exp.

    4.5/5

    27 + Years

    Mumbai

    General Surgeon

    Laparoscopic Surgeon

    Proctologist

    Call Us
    6366-370-310
  • online dot green
    Dr. Sanjeev Gupta (zunvPXA464)

    Dr. Sanjeev Gupta

    MBBS, MS- General Surgeon
    25 Yrs.Exp.

    4.9/5

    25 + Years

    Delhi

    General Surgeon

    Laparoscopic Surgeon

    Proctologist

    Call Us
    6366-370-310
  • online dot green
    Dr. Milind Joshi (g3GJCwdAAB)

    Dr. Milind Joshi

    MBBS, MS - General Surgery
    23 Yrs.Exp.

    4.7/5

    23 + Years

    Pune

    General Surgeon

    Proctologist

    Laparoscopic Surgeon

    Call Us
    6366-370-310
  • online dot green
    Dr. S. Kumarswamy (vFaB5PSDS4)

    Dr. S. Kumarswamy

    MBBS, MS-General Surgery
    20 Yrs.Exp.

    4.7/5

    20 + Years

    Coimbatore

    General Surgeon

    Laparoscopic Surgeon

    Proctologist

    Call Us
    6366-370-310
  • अपेंडेक्टोमी (अपेंडिक्स ऑपरेशन कैसे होता है) क्या होता है?

    अपेंडेक्टोमी ऑपरेशन अपेंडिक्स को शरीर से निकालने का ऑपरेशन है, जिसके द्वारा संक्रमित अपेंडिक्स को निकाला जाता है। आमतौर इस प्रकार के इलाज का सुझाव तब दिया जाता है, जब स्थिति तेजी से बिगड़ने लगती है। एक्यूट अपेंडिसाइटिस की स्थिति में अपेंडिक्स के अपने आप फटने की स्थिति निरंतर उत्पन्न हो सकती है। यदि किसी भी स्थिति में अपेंडिक्स फट जाए, तो संक्रमण पूरे शरीर में फैल सकता है, जो आपके लिए एक घातक स्थिति बन सकती है। इस प्रकार, तीव्र अपेन्डिसाइटिस (Acute appendicitis) के मामले में समय पर उपचार महत्वपूर्ण साबित होता है। क्रोनिक अपेंडिसाइटिस की स्थिति में बिना ऑपरेशन अपेंडिक्स का इलाज संभव है, क्योंकि इस स्थिति में रोगी को ज्यादा गंभीर दर्द नहीं होता है। इसके साथ साथ अन्य जटिलताओं की संभावनाएं भी कम होती हैं।

    अपेन्डिक्स सर्जरी की कीमत जांचे

    ?

    ?

    ?

    ?

    ?

    वास्तविक कीमत जाननें के लिए जानकारी भरें

    i
    i
    i

    आपके द्वारा दी गई जानकारी सुनिश्चित करने के लिए कृप्या ओटीपी डालें *

    i

    अपेंडिक्स सर्जरी के लिए सर्वश्रेष्ठ उपचार केंद्र

    हम प्रिस्टीन केयर में अपेन्डिसाइटिस का उपचार दूरबीन से करते हैं। इस प्रकार के इलाज के पीछे का कारण सुरक्षित और प्रभावी इलाज प्रदान करना है। हमने कुछ अस्पतालों को अपने पैनल में जोड़ा है, जहां पर आधुनिक बुनियादी ढांचा और अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद है और इन्ही अस्पतालों में हमारे अनुभवी डॉक्टरों के द्वारा अपेंडिक्स ऑपरेशन को अंजाम दिया जाता है। प्रिस्टीन केयर के देश भर में अपने खुद के क्लीनिक भी हैं, जहां डॉक्टर रोगियों को परामर्श प्रदान करते हैं और अपेंडिक्स में सूजन के उपचार के बारे में चर्चा करते हैं। 

    हमारे पास सामान्य एवं दूरबीन से ऑपरेशन करने वाले सर्जनों की एक समर्पित टीम है, जो अपने अनुभव और अत्यंत कुशलता के लिए जाने जाते हैं। हमारे डॉक्टर दोनों प्रकार की सर्जरी करने में सक्षम है। उन सर्जनों के पास दूरबीन और सामान्य दोनों प्रकार की सर्जरी करने का 10 वर्षों से ज्यादा का अनुभव है। आप हमारे विशेषज्ञों के साथ परामर्श बुक कर सकते हैं और अपेंडिक्स का रामबाण इलाज किफायती दरों पर प्राप्त कर सकते हैं। 

    क्या आप इनमें से किसी लक्षण से गुज़र रहे हैं?

    अपेंडिक्स कैसे ठीक होता है? अपेंडेक्टोमी के कितने प्रकार होते हैं?

    ओपन अपेंडेक्टोमी–

    मरीज को सामान्य एनेस्थीसिया के तहत रखा जाता है। यह एक तरह की सामान्य सर्जिकल प्रक्रिया है, जिसमें पेट के निचले भाग में 5 से 10 सेमी का एक बड़ा चीरा लगाया जाता है। इस ऑपरेशन प्रक्रिया में अपेंडिक्स को पूरी तरह से निकाल लिया जाता है और चीरे को टांकों की सहायता से बंद कर दिया जाता है। आमतौर पर इस प्रकार के अपेंडिक्स ऑपरेशन का सुझाव तब दिया जाता है, जब अपेंडिक्स फट जाए या फिर संक्रमण बहुत ज्यादा बढ़ जाए। 

    लेप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी–

    लेप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी एक न्यूनतम इनवेसिव सर्जिकल प्रक्रिया है, जिसमें लगभग 2 से 3 छोटे चीरे लगाए जाते हैं। मरीज को सामान्य एनेस्थीसिया के तहत रखा जाता है। पेट के अंदर के भाग को देखने के लिए और स्पष्ट दृश्य के लिए पेट को कार्बन डाइऑक्साइड गैस से भर दिया जाता है और फिर दूरबीन में एक कैमरा लगाया जाता है। एक बार अपेंडिक्स दिख जाने के बाद उसे निकाल लिया जाता है।

    अपेंडेक्टोमी के दौरान क्या होता है?

    निदान 

    • मरीज का फिजिकल टेस्ट किया जाता है, जिसमें डॉक्टर मरीज से उसके स्वास्थ्य से जुड़े कुछ सवाल पूछते हैं 
    • अपनी ल्यूब्रीकेटेड ऊँगली को गुदा में प्रवेश कराके निचले मलाशय की स्थिति को टटोलने की कोशिश करते हैं। 
    • इन्फेक्शन का पता लगाने के लिए ब्लड टेस्ट और यूरिन टेस्ट किया जा सकता है।
    • अपेंडिक्स और उसके आस-पास के अंग की तस्वीर देखने के लिए डॉक्टर एक्स रे (X-Ray), सीटी स्कैन (CT Scan) और अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) जैसे इमेजिंग टेस्ट करवा सकते हैं।

    सर्जरी के बाद प्रिस्टीन केयर द्वारा दी जाने वाली निःशुल्क सेवाएँ

    भोजन और जीवनशैली से जुड़े सुझाव

    सर्जरी के बाद मुफ्त चैकअप

    मुफ्त कैब सुविधा

    24*7 सहायता

    Top Health Insurance for Appendicitis Surgery
    Insurance Providers FREE Quotes
    Aditya Birla Health Insurance Co. Ltd. Aditya Birla Health Insurance Co. Ltd.
    National Insurance Co. Ltd. National Insurance Co. Ltd.
    Bajaj Allianz General Insurance Co. Ltd. Bajaj Allianz General Insurance Co. Ltd.
    Bharti AXA General Insurance Co. Ltd. Bharti AXA General Insurance Co. Ltd.
    Future General India Insurance Co. Ltd. Future General India Insurance Co. Ltd.
    HDFC ERGO General Insurance Co. Ltd. HDFC ERGO General Insurance Co. Ltd.

    अपेंडिक्स को निकालने के लिए दूरबीन का प्रयोग

    • लेप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी या दूरबीन से अपेंडिक्स को निकालने का ऑपरेशन एक न्यूनतम इनवेसिव सर्जिकल प्रक्रिया है, जिसमें लगभग 2 से 3 छोटे चीरे लगाए जाते हैं। न्यूनतम इनवेसिव सर्जिकल प्रक्रिया वह प्रक्रिया है, जिसमें कम से कम उपकरणों को शरीर के भीतर डाला जाता है। 
    • रोगी को सामान्य एनेस्थीसिया या बेहोशी की दवा के तहत रखा जाता है। पेट के अंदर स्पष्ट रूप से देखने के लिए पेट के अंदर कार्बन डाइऑक्साइड गैस को डाला जाता है, फिर दूरबीन के साथ एक कैमरा लगा कर उन चीरों में डाला जाता है। 
    • एक बार अपेंडिक्स दिख जाए तो उसे दूरबीन में लगे सर्जिकल उपकरण की सहायता से निकाल लिया जाता है।
    • अपेंडिक्स को निकालने के बाद सभी उपकरणों को शरीर से निकाल कर स्किन ग्लू या फिर सर्जिकल टेप से उन चीरों को बंद कर दिया जाता है। 

    लेकिन कुछ मामलों में स्थिति गंभीर हो जाती है और दूरबीन की सहायता से अपेंडिक्स में सूजन का उपचार संभव नहीं हो पाता है। इस स्थिति में डॉक्टर ओपन अपेंडेक्टोमी का सुझाव दे सकते हैं। नीचे बताए गए कारणों से डॉक्टर को प्रक्रिया में बदलाव करने की आवश्यकता पड़ सकती है। 

    • संक्रमण का अधिक बढ़ जाना
    • अपेंडिक्स में समस्या
    • अधिक मोटापा
    • पिछली सर्जरी के कारण गहरा निशान होना
    • ऑपरेशन के दौरान रक्त हानि
    • दूरबीन की सहायता से अंदरूनी अंगों को स्पष्टता से देखने में समस्या होना

    लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी के लिए खुद को कैसे तैयार करें?

    • अन्य सर्जिकल प्रक्रिया की तरह ही इस प्रक्रिया में ऑपरेशन से 8 घंटे पहले कुछ भी खाना या पीना नहीं चाहिए। यदि आप खाली पेट रहते हैं, तो आपका डॉक्टर बिना किसी परेशानी के अपेंडिक्स ऑपरेशन कर पाएंगे। 
    • अगर मरीज किसी तरह की दवाओं का सेवन कर रहा है, तो डॉक्टर उन दवाओं को बंद करने की सलाह दे सकते हैं। 
    • आपको सर्जरी से एक हफ्ते पहले कुछ दवाएं जैसे एस्पिरिन, ब्लड थिनर, विटामिन ई और गठिया की दवाएं लेने से बचना चाहिए क्योंकि यह ऑपरेशन के दौरान कुछ जटिलताएं उत्पन्न कर सकते हैं।  
    • अगर आपको रक्त हानि जैसी समस्या पहले से है या आपको एनेस्थीसिया से एलर्जी है, तो ऑपरेशन से पहले अपने डॉक्टर को इस बात की सूचना दें। ऐसा करना जरूरी है, क्योंकि यह आपको सुरक्षित इलाज प्राप्त करने में सहायक सिद्ध हो सकता है। 
    • अस्पताल पहुंचने पर आपको सर्जरी के दौरान किसी भी संभावित जटिलताओं को रोकने के लिए ब्लड टेस्ट, छाती का एक्स-रे और अन्य टेस्ट करवाने पड़ सकते हैं।
    • अगर आप स्नान करना चाहते हैं, तो ध्यान रहे कि ऑपरेशन से पहले ही स्नान कर लें, क्योंकि डॉक्टर ऑपरेशन के बाद सर्जिकल क्षेत्र को सूखा और साफ रखने की सलाह देते हैं, जो ऑपरेशन के बाद प्रभावित क्षेत्र में संक्रमण और अन्य जटिलताओं को होने से रोकता है। 

    लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी सर्जरी के बाद आप क्या उम्मीद कर सकते हैं?

    जब तक कि एनेस्थीसिया का प्रभाव पूरी तरह से समाप्त ना हो जाए आप अपेंडिक्स सर्जरी के बाद थोड़े दर्द और बेचैनी महसूस कर सकते हैं। एक बार जब एनेस्थीसिया का असर चला जाता है और आपका रक्तचाप, सांस और नाड़ी यानी पल्स की दर स्थिर हो जाती है, तो आपको रिकवरी रूम में ले जाया जाता है। आपकी संपूर्ण शारीरिक स्थिति और उपचार की प्रक्रिया के आधार पर आपको अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है। घाव को संक्रमण से बचाने के लिए आपको अगले कुछ दिनों तक सर्जिकल जगह को सूखा और साफ रखने की सलाह दी जाएगी। अपेंडेक्टोमी सर्जरी होने के बाद, पहले कुछ दिनों के दौरान, आप अपने पेट के आस-पास की जगह में दर्द महसूस कर सकते हैं, और डॉक्टर दर्द से निपटने और किसी भी संक्रमण को रोकने के लिए एंटीबायोटिक्स लिख सकते हैं। 

    दूरबीन से अपेंडिक्स में सूजन के उपचार के फायदे

    दूरबीन से अपेंडिक्स में सूजन का इलाज एक लोकप्रिय इलाज प्रक्रिया बन गई है क्योंकि इसे अपेंडिक्स का रामबाण इलाज माना जाता है और इसके निम्नलिखित फायदे हैं –

    • ओपन अपेंडिक्स ऑपरेशन में बड़ा चीरा लगाया जाता है, वहीं दूरबीन से ऑपरेशन में 2-3 छोटे छोटे चीरे लगाए जाते हैं, जिसके कारण दूरबीन से ऑपरेशन के बाद रिकवरी जल्दी होती है। 
    • चूंकि चीरों का आकार छोटा होता है, इसलिए ऑपरेशन के दौरान या बाद में रक्त हानि या संक्रमण की संभावना कम होती है।
    • चीरा छोटे आकार का होने के कारण, ऑपरेशन के बाद दर्द कम होता है।
    • दूरबीन से ऑपरेशन के बाद रोगी उसी दिन अपने घर वापस जा सकता है। 
    • लेप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी (Laparoscopic appendectomy) होने के बाद शारीरिक गतिविधियों पर प्रतिबंध कम होता है।

    यह सभी फायदे संकेत देते हैं कि अपेन्डिसाइटिस का उपचार दूरबीन से ज्यादा सुरक्षित और सफल होता है।

    क्या होगा यदि अपेन्डिसाइटिस का उपचार नहीं हुआ?

    यदि अपेन्डिसाइटिस का उपचार समय पर नहीं होता है तो संक्रामक बैक्टीरिया आपके अपेंडिक्स में सूजन, खून के बहाव में बाधा या फिर अपेंडिक्स की दीवारों पर समस्या जैसी जटिलताएं उत्पन्न कर सकता है। इसके कारण आपके अपेंडिक्स में प्रेशर बनेगा, जिससे अपेंडिक्स फट भी सकता है। यदि ऐसा हुआ तो अपेंडिक्स में मौजूद पस या अणु आपके पेट के उस क्षेत्र में जा सकते हैं, जहां पर यकृत, पेट और आंत हैं, जो आपके लिए एक जानलेवा स्थिति बन सकती है। 

    एपेंडिसाइटिस के विभिन्न ग्रेड

    ग्रेड 1 

    इस चरण में आपको नाभि के आस पास के क्षेत्र में दर्द होगा और कभी कभी पेट में मरोड़ जैसा भी महसूस हो सकता है। इस स्थिति में आप दर्द होने वाली जगह को बता पाने में असमर्थ रहते हैं। इसे आप आमतौर पर अपेंडिक्स में संभावित सूजन का पहला संकेत मान सकते हैं। भूख न लगना, मतली और उल्टी जैसे अन्य लक्षणों का भी आप सामना कर सकते हैं। 

    ग्रेड 2

    यह वह चरण है, जहां अपेंडिक्स के लुमेन में जमा बैक्टीरिया और ज्वलनशील तरल पदार्थ अपेंडिक्स की मांसपेशियों की दीवार में प्रवेश करते हैं। जब ज्वलनशील ऊतक पेरिटोनियम के खिलाफ रगड़ती हैं, तो यह बाद में तेज दर्द का कारण बनते हैं। इस ग्रेड में आप देखते हैं कि दर्द नाभि से हटकर अब उस क्षेत्र से नीचे एवं दाहिने क्षेत्र में होता है। 

     ग्रेड 3

    इस ग्रेड में अपेंडिक्स की रुकावट से सूजन और दबाव बढ़ जाता है, जिसके कारण अंग में रक्त का प्रवाह रुक जाता है। ऐसी स्थिति को स्वास्थ्य आपातकालीन स्थिति माना जाता है। यदि रोगी को समय पर उचित उपचार नहीं मिलता है, तो इसका परिणाम अपेंडिक्स के टूटने या फटने के रूप में देखा जा सकता है, जिसके कारण गंभीर जटिलताएं उत्पन्न हो सकती हैं।

    ग्रेड 4 

    कभी कभी संक्रमण के कारण अपेंडिक्स में छेद हो जाता है, जिसके कारण संक्रमण पेट के अन्य भाग में भी फैल जाता है। इस स्थिति में जो मल अपेंडिक्स में होता है, उसके पेट में फैल जाने की अधिक संभावना होती है। इसके कारण शरीर में जलन होती है और पेट में फोड़े हो जाते हैं। सूजन के कारण, आंतों में समस्या उत्पन्न होती है, जिसे सर्जरी से निकालना मुश्किल होता है। यह पेट के अंदर छाले या फोड़े लंबे समय तक बुखार और दर्द का कारण बन सकते हैं और इसके परिणामस्वरूप लोग थोड़े धीमी रफ्तार से ठीक होते हैं। इस स्थिति में आपको अपेंडिक्स में सूजन के उपचार की आवश्यकता पड़ सकती है। 

    ग्रेड 5

    ऐसी अपेंडिक्स जिसमें सूजन और छेद हो तो वह कभी कभी ओमेंटम (वसा युक्त ऊतक की एक दोगुनी परत जो पेट के निचले भाग और आंतों को कवर और समर्थन करती हैं) से अलग हो जाए या छोटी आंत पूर्ण रूप से बाधित हो जाए, तो ग्रेड 5 के अपेंडिसाइटिस की संभावना होती है। इसके कारण अपेंडिक्स में सूजन और लालिमा देखने को मिलती है। इसके कारण अपेंडिक्स में समस्या उत्पन्न होती है, और इस ग्रेड में जल्द से जल्द अपेंडिक्स के उपचार का सुझाव दिया जाता है।

    दूरबीन से अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद स्वयं की देखभाल कैसे करें?

    ऑपरेशन के बाद मरीज को डॉक्टर की निगरानी में रिकवरी कक्ष में रखा जाता है। यदि ऑपरेशन में दूरबीन का प्रयोग हुआ है, तो अगले ही दिन छुट्टी दे दी जाती है। यदि ओपन सर्जरी हुई है तो 3 दिनों के बाद छुट्टी दे दी जाती है। पूर्ण रूप से दुरुस्त होने के लिए लगभग 4-6 सप्ताह लग सकते हैं। 

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद अस्पताल में देखभाल –

    • अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद मरीज को रिकवरी रूम में ले जाया जाता है। डॉक्टर मरीज की हृदय गति, सांस की गति, ब्लड प्रेशर आदि की जांच करते हैं।
    • दूरबीन से ऑपरेशन के पश्चात अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए आप उसी दिन अपने घर जा सकते हैं। 
    • ऑपरेशन के बाद पूर्ण रूप से रिकवर होने में कितना समय लगेगा, इस बात का जवाब प्रक्रिया के प्रकार पर निर्धारित होता है। 
    • ऑपरेशन के अंत में चीरे के अंदर एक नली डाली जाती है। इस नली को तब हटाया जाता है जब आंतों की काम करने की क्षमता सामान्य हो जाती है। कुछ मामले में इस नली के कारण रोगी कुछ भी खा या पी नहीं पाते हैं।

    लेप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी के बाद घर में ऐसे करें देखभाल-

    • अपेंडिक्स के ऑपरेशन के बाद रोगी को अपने घाव को साफ और सूखा रखने की सलाह दी जाती है। 
    • प्रक्रिया के पश्चात डॉक्टर द्वारा दिए गए आवश्यक दिशा निर्देश का पालन करें और उसी के अनुसार ही स्नान करें। 
    • ऑपरेशन के बाद भी नियमित रूप से डॉक्टर के साथ परामर्श लें। 
    • अपेंडेक्टोमी के बाद ज्यादा देर तक खड़े रहने पर चीरे वाले क्षेत्र या पेट के मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। इसलिए इन गतिविधियों को करने से बचें। 
    • डॉक्टर द्वारा दी गई दवाओं का सेवन उचित समय पर करें।
    • दूरबीन से अपेंडिक्स ऑपरेशन में आपको यह महसूस हो सकता है कि कार्बन डाइऑक्साइड अभी भी आपके पेट में है। यह समस्या कुछ दिनों में ठीक हो सकती है।
    • ऑपरेशन के पश्चात हर समय अपने बिस्तर पर न रहें। डॉक्टर आपको धीरे धीरे टहलने की सलाह भी दे सकते हैं। लेकिन किसी भी गतिविधि को इस प्रकार न करें कि वह आपको पूर्ण रूप से थका दे। 

    अपेंडिक्स का ऑपरेशन कितने दिन में ठीक होता है?

    अपेंडिक्स का ऑपरेशन के बाद ठीक होने का समय व्यक्ति के स्वास्थ्य स्तिथि, ऑपरेशन की प्रक्रिया, और अन्य तत्वों पर निर्भर करता है। हालांकि, आमतौर पर इसका इलाज और ठीक होने में कुछ हफ्तों की समय लग सकता है।

    सामान्यत:

    • ऑपरेशन के दौरान एवं बाद में आपको अस्पताल में थोड़े समय के लिए रहना पड़ सकता है।
    • ऑपरेशन के बाद शुरू होने वाली दर्द की दवाएं और देखभाल ली जानी चाहिए।
    • कुछ दिनों तक भोजन में सीमिती का पालन करना आम होता है, और फिर सामान्य जीवन में वापसी कर सकती है।

    लेकिन, यह सभी विवादास्पद है और यह बदल सकता है। आपके डॉक्टर आपके आपरेशन के बाद ठीक होने में आपकी स्थिति को बेहतर से समझ सकते हैं और आपको सटीक जानकारी प्रदान कर सकते हैं।

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद सावधानियां

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद, रुझान और सवधानियों का पालन करना महत्वपूर्ण है ताकि रिकवरी प्रक्रिया सुरक्षित रूप से हो सके। यहां कुछ सावधानियां दी जा रही हैं:

    1. अस्पताल में रहना: ऑपरेशन के बाद, आमतौर पर कुछ दिनों के लिए आपको अस्पताल में रुकना पड़ सकता है। इसका उचित पालन करें और डॉक्टर की सलाह का पालन करें।
    2. दवाओं का सही तरीके से लेना: डॉक्टर द्वारा निर्धारित दवाओं को सही तरीके से और समय पर लें।
    3. अनुसरण का पालन: ऑपरेशन के बाद डॉक्टर के द्वारा बताई गई सभी जानकारियों और सलाहों का पूरी तरह से पालन करें।
    4. शारीरिक गतिविधियों की सीमा: डॉक्टर की सलाह के अनुसार शारीरिक गतिविधियों की सीमा का पालन करें। आराम और स्थायिता से शुरू करें और धीरे-धीरे सकारात्मक गतिविधियों में बदलें।
    5. आहार: डॉक्टर द्वारा बताई गई आहार सीमाओं का पालन करें। कुछ दिनों तक हल्के और आसान पचने वाले आहार का सेवन करें।
    6. सूजी हुई इलाकों का ध्यान रखें: ऑपरेशन के स्थान पर सूजन, लालिमा, या इन्फेक्शन के लक्षणों की निगरानी करें। यदि आपको इन समस्याओं का सामना करना पड़ता है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
    7. पानी पीना: प्रतिदिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीना महत्वपूर्ण है ताकि आपका शरीर सही से हाइड्रेटेड रहे।

    अपेंडिक्स का एलोपैथिक इलाज के ज़्यादातर पूछे जाने वाले सवाल

    अपेंडिसाइटिस से छुटकारा पाने का सबसे सटीक और तेज़ तरीका क्या है?

    अपेंडिक्स का ऑपरेशन अपेंडिक्स का रामबाण इलाज है। ऑपरेशन के जरिए अपेंडिक्स को पूरी तरह से हटा दिया जाता है, जिससे इस समस्या का हमेशा के लिए समाधान हो जाता है। ऑपरेशन में केवल 30 से 45 मिनट का समय लगता है। 

    क्या सर्जरी के बिना अपेंडिसाइटिस का इलाज संभव है?

    हां, कुछ मामलों में, एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल करके अपेंडिसाइटिस का इलाज किया जा सकता है। दवाएं सूजन को दूर करेंगी और संक्रमण का इलाज करेंगी। हालांकि, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि स्थिति को आगे बढ़ने से रोकने में दवाएं प्रभावी होंगी। इसलिए अपेंडिसाइटिस की समस्या को पूरी तरह से ख़तम करने के लिए सर्जरी की ज़रूरत होगी।

    भारत में लैप्रोस्कोपिक अपेंडिक्स ऑपरेशन खर्च कितना होता है?

    अनुमान भरता में लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी का खर्च 40,000 से 1,20,000 तक हो सकता है। लेकिन ये अपेंडिक्स ऑपरेशन का खर्च शहरों, अस्पताल और सर्जन के आधार पर ऊपर नीचे हो सकता है। 

    अपेंडिक्स निकालने के बाद आपको कितने समय तक अस्पताल में रहना होगा?

    आमतौर पर, अगर आप लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवाते हैं, तो आपको अस्पताल में रहने की ज़रूरत नहीं होगी। आपको उसी दिन छुट्टी दे दी जाएगी। हालांकि, ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर आपकी स्थिति के आधार पर 1 या 2 दिनों के लिए अस्पताल में रहने के लिए कह सकते हैं।

    क्या अपेंडिक्स की सर्जरी दर्दनाक होती है?

    नहीं, अपेंडिक्स सर्जरी बिल्कुल भी दर्दनाक नहीं होती है क्योंकि यह सामान्य एनेस्थीसिया का इस्तेमाल करके की जाती है।

    क्या अपेंडिक्स हटाने की सर्जरी स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत आती है?

    हां, अपेंडिक्स हटाने की सर्जरी स्वास्थ्य बीमा द्वारा कवर की जाती है क्योंकि यह एक गंभीर स्थिति है जो जीवन के लिए खतरा पैदा कर सकती है। ज़्यादातर बीमा कंपनियां अपेंडिक्स के उपचार के लिए पर्याप्त कवरेज प्रदान करते हैं।

    अपेंडिसाइटिस उपचार के दूसरे विकल्प क्या हैं?

    अपेंडिसाइटिस उपचार का सर्जरी के अलावा एकमात्र विकल्प एंटीबायोटिक दवाएं हैं। हालांकि, यह विकल्प केवल पुरानी एपेंडिसाइटिस के मामले में काम करता है जब स्थिति बार-बार होती है। क्रोनिक एपेंडिसाइटिस में, स्थिति उस चरण तक आगे नहीं बढ़ती है जहां सर्जरी की आवश्यकता होगी। इसे केवल दवाओं से ही नियंत्रित किया जा सकता है।

    लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी (अपेंडिक्स सर्जरी) के बाद देखभाल कैसे करें?

    सर्जरी के बाद मरीज को निगरानी के लिए रिकवरी रूम में ले जाया जाता है। आमतौर पर मरीज को अगले ही दिन छुट्टी दे दी जाती है अगर लैप्रोस्कोपिक सर्जरी की गई हो और 3 दिनों के बाद ओपन अपेंडेक्टोमी की गई हो। पूरी तरह रिकवरी होने में लगभग 4 से 6 सप्ताह लग सकते हैं।

    लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी होने के बाद देखभाल कैसे करें?

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद अस्पताल में देखभाल-

    • अपेंडिक्स सर्जरी के बाद मरीज को रिकवरी रूम में ले जाया जाता है। डॉक्टर्स मरीज की ह्रदय गति, सांस, ब्लड प्रेशर आदि की जांच करते हैं।
    • लैप्रोस्कोपिक सर्जरी में व्यक्ति को सर्जरी के बाद अस्पताल में भर्ती होने की ज़रूरत नहीं होती है।
    • अपेंडिक्स सर्जरी के बाद रिकवरी में कितना समय लगेगा यह इस बात पर निर्भर करता है की सर्जरी किस प्रक्रिया से की गयी है और प्रक्रिया के दौरान एनेस्थीसिया का कौन-सा प्रकार दिया गया था। ऑपरेशन के आखिरी में चीरे के अंदर लगाई गई ट्यूब को तब निकाला जायेगा जब आंतों की काम करने की क्षमता सामान्य हो जाएगी। जब तक उस ट्यूब को निकाल नहीं दिया जाता तब तक पेशेंट कुछ खा या पी नहीं सकता है।

    लैप्रोस्कोपिक अपेंडेक्टोमी के बाद घर में देखभाल-

    • अपेंडेक्टोमी के बाद मरीज को घर ले आने के बाद ध्यान रखें कि उसके घाव को साफ और सूखा रखें।
    • अपेंडेक्टोमी के बाद डॉक्टर द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के हिसाब से ही नहाएं।
    • घर आने के बाद भी नियमित रूप से डॉक्टर के साथ फॉलो-अप परामर्श करवाते रहें।
    • अपेंडेक्टोमी के बाद ज्यादा देर तक खड़े रहने पर चीरे की जगह और पेट की मांसपेशियों में दर्द हो सकता है।
    • डॉक्टर द्वारा दी गई दवाओं का सेवन उचित समय पर करें।
    • लैप्रोस्कोपिक सर्जरी में आपको यह महसूस हो सकता है कि कार्बन डाइऑक्साइड अभी भी आपके पेट में है। यह समस्या कुछ दिनों में ठीक हो जाएगी।
    • ऑपरेशन के बाद हर समय बिस्तर पर ना रहकर, हल्का टहलना मरीज के लिए अच्छा रहता है। लेकिन ऐसी स्तिथि ना आने दें की आपको थकावट महसूस हो।

    अपेंडिसाइटिस के कितने प्रकार होते है?

    तीव्र(एक्यूट) अपेंडिसाइटिस

    अपेंडिसाइटिस के गंभीर और अचानक दौरे को तीव्र कहा जाता है। 10 से 30 वर्ष की आयु के बीच, बच्चों और युवा वयस्कों में इसका अनुभव करने की सबसे अधिक संभावना है, और अपेंडिसाइटिस महिलाओं की तुलना में पुरषों को ज़्यादा बार इसका अनुभव होता है। शुरू के समय में दर्द अक्सर हल्का रहता है लेकिन जल्द ही बढ़ जाता है।

    जब भी आपको तेज दर्द होन शुरू हो, तो आपको इलाज करवाने की ज़रूरत पड़ेगी। अगर समय पर इलाज ना हुआ, तो आपके अपेंडिक्स के फटने का खतरा बढ़ जाता है। यह समस्या घातक होने की क्षमता रखती है। 

    लगभग 7 से 9 प्रतिशत लोगों को अपने जीवन में एक्यूट अपेंडिसाइटिस का अनुभव हो सकता है।

     

    क्रोनिक अपेंडिसाइटिस

    क्रोनिक अपेंडिसाइटिस, एक्यूट अपेंडिसाइटिस से कम बार होती है। केवल 1.5% लोग जो पहले से ही क्रोनिक अपेंडिसाइटिस का अनुभव कर चुके हैं, वे इसका अनुभव करते हैं।

    क्रोनिक अपेंडिसाइटिस के लक्षण कुछ हद तक मामूली हो सकते हैं और आम तौर पर एक्यूट अपेंडिसाइटिस के जैसे ही होते हैं। लक्षणों के गायब होने और फिर से शुरू होने में कुछ सप्ताह, महीने या साल भी लग सकते हैं।

    इस तरह के अपेंडिसाइटिस का निदान मुश्किल हो सकता है। कभी-कभी, इसका निदान तब तक नहीं होता जब तक यह एक्यूट अपेंडिसाइटिस में बदल नहीं जाता। लगातार बने रहने वाले अपेंडिसाइटिस घातक हो सकता है।

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए?

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद, संबंध बनाने की समय सीमा प्रत्येक व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य और उपचार के प्रकार पर निर्भर करती है। हालांकि, आमतौर पर चिकित्सकों द्वारा संबंध बनाने की सलाह दी जाती है, जब तक व्यक्ति का शारीरिक और मानसिक स्थिति उनके संबंध के लिए तैयार नहीं हो जाती है। चिकित्सक से परामर्श लें और उनकी सलाह का पालन करें।

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद कितने दिन आराम करना चाहिए?

    अपेंडिक्स ऑपरेशन के बाद, आपको आमतौर पर चिकित्सक की सलाह और निर्देशों के अनुसार कुछ दिनों के लिए पूरी आराम की जरूरत होती है। आमतौर पर, चिकित्सकों का कहना है कि लोगों को ऑपरेशन के बाद आराम करना चाहिए और शारीरिक कार्यों को संभालकर जाना चाहिए। यह आपके आर्थिक स्थिति, समर्थन व्यवस्था, और चिकित्सक द्वारा आपके शारीरिक स्थिति के आधार पर भी निर्भर करता है। चिकित्सक की सलाह और निर्देशों का पालन करें और आराम करें जब तक कि चिकित्सक आपको सकारात्मक अवलोकन न दें।

    और प्रश्न पढ़ें downArrow
    green tick with shield icon
    Content Reviewed By
    doctor image
    Dr. Falguni Rakesh Verma
    27 Years Experience Overall
    Last Updated : April 13, 2024

    हमारे मरीजों की प्रतिक्रिया

    Based on 7271 Recommendations | Rated 5 Out of 5
    • SK

      Seema Khatri

      5/5

      When I was diagnosed with appendicitis, I was terrified. However, Pristyn Care's timely response and expert care put my worries to rest. Their skilled surgeons performed an emergency appendectomy, saving me from potential complications. The whole team at Pristyn Care showed utmost professionalism and empathy, and I'm grateful for their prompt action.

      City : LUCKNOW
    • RG

      Ridheekaran Gond

      5/5

      I had my appendicitis surgery through pristyn care. The overall journey was very good. There were some instances where I felt the communication was not good, though. The cab service was good. The surgery itself was really good. I am facing no issues or side effects post-surgery.

      City : HYDERABAD
      Doctor : Dr. Devidutta Mohanty
    • AJ

      Atishay Jain

      5/5

      Pristyn Care's timely appendicitis treatment saved my life. The skilled surgeons performed the surgery flawlessly, and the post-operative care was outstanding. I am forever grateful for their expertise and dedication.

      City : VADODARA
    • AS

      Avichal Supriyo

      5/5

      Pristyn Care truly made my appendicitis treatment experience a breeze! The minimally-invasive technique they used was excellent. I appreciated their focus on patient comfort and quick recovery, which allowed me to resume my daily activities in no time.

      City : COIMBATORE
      Doctor : Dr. S. Kumarswamy
    • PO

      Pramad Oberoi

      5/5

      Pristyn Care impressed me with their seamless appendicitis treatment. Thumbs up to the medical team.

      City : CHANDIGARH
      Doctor : Dr. Prince Gupta
    • SP

      Sankalp Paswan

      5/5

      Pristyn Care's compassionate staff made my appendicitis treatment comfortable. The surgery was complication-free, thanks to their skilled team.

      City : CHANDIGARH
      Doctor : Dr. Kamal Sharma