home-remedies-for-gynecomastia-in-hindi

गाइनेकोमैस्टिया को मैन बूब्स (Man Boobs In Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यह पुरुष में होने वाली एक समस्या है जिससे ज्यादातर मरीज अनजान रहते हैं। शोध से यह बात सामने आई है कि भारत में लगभग 50% पुरुष इस बीमारी से पीड़ित हैं। इस समस्या के इतना अधिक होने का सबसे बड़ा कारण यही है कि लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है।

गाइनेकोमैस्टिया से बचने का सबसे पहला स्टेज है इसके बारे में सही जानकारी होना। यह बीमारी क्या है, कैसे होती है, क्यों होती है, इसके लक्षण क्या हैं तथा इसका इलाज कैसे किया जाता है। प्रिस्टीन केयर के इस ब्लॉग में आज हम आपको गाइनेकोमैस्टिया के कारण, लक्षण और Gynecomastia Treatment At Home in Hindi के बारे में विस्तार से बताएंगे।

Table of Contents

गाइनेकोमैस्टिया क्या है — Gynecomastia In Hindi

जब एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन में असंतुलन होता है तो पुरुष के स्तनों के टिशू सूजन आ जाती है जिसके कारण स्तनों का आकार महिलाओं के स्तनों की तरह बढ़ने लगता है। गाइनेकोमैस्टिया महिलाओं के स्तनों की तरह नहीं होता है, लेकिन कुछ मामलों में उससे मिलता-जुलता तथा कई मामलों में उसके आकार का होता है।

आगे पढ़ें:- क्या मात्र 1 दिन में गाइनेकोमैस्टिया का इलाज हो सकता है?

इसी स्थिति को मेडिकल कि भाषा में गाइनेकोमैस्टिया (Gynecomastia In Hindi) कहा जाता है। इसकी वजह से पुरुष के पर्सनल और प्रोफेशनल दोनों जीवन पर बुरा असर पड़ता है। गाइनेकोमैस्टिया से पीड़ित पुरुष को कई बार शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है।

गाइनेकोमैस्टिया के कारण — Causes Of Gynecomastia In Hindi — Gynecomastia Ke Kaaran

गाइनेकोमैस्टिया के कारणों पर ध्यान देने के बाद इस समस्या से खुद को बचाया जा सकता है। इस समस्या के कुछ खास कारण हैं जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

विशेषज्ञ का मानना है कि दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण भी यह समस्या हो सकती है। इसके अलावा, जो लोग ड्रग्स का सेवन करते हैं उन्हें भी यह परेशानी होने की संभावना अधिक होती है। क्योंकि इससे शरीर के टिश्यूज का विकास काफी तेजी से होता है।

शराब का सेवन करने से भी ज्ञ्नेकोमास्टिया होने की संभावना अधिक होती है। अगर आप इस समस्या से बचना चाहते हैं तो शराब का सेवन बंद कर देना चाहिए। शराब पीने से गाइनेकोमैस्टिया के अलावा दूसरी भी कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

डॉक्टर का कहना है कि स्वास्थ्य संबंधित बीमारियां जैसे कि किडनी या लिवर की बीमारी से पीड़ित होने पर भी ज्ञ्नेकोमास्टिया होने का ख़तरा बढ़ जाता है। अगर आप इन बीमारियों से पीड़ित हैं तो डॉक्टर से मिलकर अवश्य इनकी जांच और उचित इलाज करवाएं।

पुरुष के स्तनों में हार्मोन में असंतुलन होने के कारण चेस्ट के टिश्यूज का अधिक मात्रा में विकास होता है जिसके कारण स्तनों का आकार बढ़ जाता है।

गाइनेकोमैस्टिया के लक्षण  — Symptoms Of Gynecomastia In Hindi — Gynecomastia Ke Lakshan Hindi Me 

दूसरी किसी भी बीमारी की तरह गाइनेकोमैस्टिया के भी लक्षण होते हैं जो मरीज खुद में अनुभव कर सकते हैं। इन लक्षणों की मदद से आप या आपके डॉक्टर इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि आप गाइनेकोमैस्टिया से पीड़ित हैं। गाइनेकोमैस्टिया के लक्षण निम्नलिखित हैं:-

  • स्तन का आकार बढ़ना
  • स्तन में गांठ जैसा महसूस होना 
  • चेस्ट के आस-पास सूजन होना
  • कुछ मामलों में इंफेक्शन होना
  • स्तन में कोमलता महसूस होना
  • स्तन में हल्का-फुल्का दर्द होना
  • स्तन का आगे की तरफ झुकना 
  • कभी-कभी स्तन से डिस्चार्ज होना

अगर आप ऊपर बताए गए किसी भी लक्षण को खुद में अनुभव करते हैं तो आपको तुरंत एक अनुभवी प्लास्टिक सर्जन से मिलकर इस बारे में बात करनी चाहिए। वे आपकी जांच करने के बाद इसका सही इलाज कर सकते हैं।   

गायनेकोमैस्टिया का घरेलू उपचार — Home Remedies For Gynecomastia in Hindi — Gynecomastia Ka Desi Ilaj In Hindi

गाइनेकोमैस्टिया कोई बहुत गंभीर या जानलेवा बीमारी नहीं है। इसलिए आपको ज्यादा घबराने की आवश्यकता नहीं है। इसके इलाज के ढेरों माध्यम उपलब्ध हैं, लेकिन इसे कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से घर बैठे भी ठीक किया जा सकता है। यह पुरुषों को तब होता है जब वे युवावस्था या बुढ़ापे में होते हैं। अगर आप Gynecomastia Ka Gharelu Ilaj In Hindi के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं नीचे पढ़ें।

इसे पढ़ें: सर्जरी के बिना गाइनेकोमैस्टिया का इलाज

सेंधा नमक से गाइनेकोमैस्टिया ठीक हो सकता है

सेंधा नमक में मैग्नीशियम मौजूद होता है जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है। नहाने से कुछ मिनट पहले पानी में सेंधा नमक मिलाकर नहाने से शरीर पूरी तरह से डिटॉक्सीफाई हो जाता है जिसके कारण गाइनेकोमैस्टिया के लक्षण खत्म होने लगते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि जो लोग ब्लड प्रेशर या कार्डिएक डिसऑर्डर से संबंधित बीमारियों से पीड़ित हैं उन्हें सेंधा नमक या इस विधि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे उन्हें फायदा के बजाय नुकसान हो सकता है। यह Gynecomastia Ka Desi Ilaj In Hindi का बेस्ट माध्यम है।

ओमेगा 3 फैटी एसिड और जिंक गाइनेकोमैस्टिया के लक्षणों को कम करते हैं

ओमेगा 3 फैटी एसिड और जिंक गाइनेकोमैस्टिया के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। यह पुरुष के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्तर को बढ़ाने का काम करते हैं जिसकी वजह से गाइनेकोमैस्टिया के लक्षण कम और यह समस्या धीरे-धीरे खत्म हो जाती है। अगर आप इस परेशानी से छुटकारा पाने चाहते हैं तो अपनी डाइट में मछली को शामिल करना चाहिए। क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आगे पढ़ें: गाइनेकोमैस्टिया के लिए बेस्ट एक्सरसाइज

अलसी के तेल से गाइनेकोमैस्टिया को ठीक किया जा सकता है

अलसी में कुछ खास औषधीय गुण पाए जाते हैं जो गाइनेकोमैस्टिया के लक्षणों को कम करने का काम करते हैं। अगर आप अपनी समस्या से परेशान हो चुके हैं और इसकी वजह से काफी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है तो आप अलसी का सेवन करके खुद को इस परेशानी से बचा सकते हैं।

सोया गाइनेकोमैस्टिया को दूर करता है

डेयरी मिल्क की जगह सोया मिल्क का इस्तेमाल करके आप गाइनेकोमैस्टिया से छुटकारा पा सकते हैं। सोया में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो गाइनेकोमैस्टिया को ठीक करने के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित रखने का काम करते हैं।

हल्दी से गाइनेकोमैस्टिया ठीक होता है

हल्दी एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका इस्तेमाल खान-पान को स्वादिष्ट बनाने से लेकर ढेरों बीमारियों, लक्षणों और कमजोरियों का इलाज करने के लिए भी किया जाता है। इसमें ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जिससे पुरुष के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की मात्रा बढ़ती है जिसके कारण पुरुष गाइनेकोमैस्टिया से सुरक्षित रहते हैं। गाइनेकोमैस्टिया से बचने तथा इसे ठीक करने वाले सबसे बेहतरीन घरेलू नुस्खों में हल्दी भी शामिल है। Gynecomastia Ka Ilaj करने के लिए हल्दी एक प्रभावशाली घरेलू नुस्खा है।

इसे पढ़ें: आयुर्वेद से भी गाइनेकोमैस्टिया का इलाज किया जा सकता है

गुग्गुल का इस्तेमाल गाइनेकोमैस्टिया में फायदेमंद होता है 

अगर आप यह सोच रहे हैं कि Gynecomastia Ko Kaise Khatam Kare तो आपको ज्यादा टेंशन लेने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि गुग्गुल से इसका इलाज किया जा सकता है। यह एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका इस्तेमाल गाइनेकोमैस्टिया को दूर करने के लिए किया जाता है। गुग्गुल पुरुष के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम और पुरुष हार्मोन का स्तर बढ़ाता है। नियमित रूप से कुछ दिनों तक इसका इस्तेमाल करने से गाइनेकोमैस्टिया दूर हो सकता है।

घरेलू नुस्खों से फायदा नहीं होने पर क्या करें?

अगर गाइनेकोमैस्टिया अपनी शुरूआती स्टेज में है तो घरेलू नुस्खों से इसका इलाज संभव है। लेकिन अगर यह गंभीर रूप ले चूका है, इसके लक्षण पहले से खराब हो रहे हैं और आपके स्तनों का आकार भी लगातार बढ़ रहा है तो इस स्थिति में सर्जरी ही इसका एकमात्र उचित इलाज है।

जब नॉन सर्जिकल इलाज से गाइनेकोमैस्टिया में कोई फायदा नहीं होता है तो प्लास्टिक सर्जन से सर्जरी का सुझाव देते हैं। गाइनेकोमैस्टिया की सर्जरी को कई तरह से किया जाता है, लेकिन वेसर लिपोसक्शन को इसका बेस्ट इलाज माना जाता है। यह एक मॉडर्न और एडवांस सर्जिकल प्रक्रिया है जिससे किसी भी प्रकार के गायनीकोमैस्टिया को कम से कम समय में बहुत ही आसानी से ठीक किया जा सकता है।

गाइनेकोमैस्टिया की वेसर लिपोसक्शन सर्जरी के दौरान स्तन पर एक छोटा सा कट लगाकर सर्जिकल वैक्यूम की मदद से वहां मौजूद एक्स्ट्रा फैट को बहुत ही आसानी से बाहर निकाल दिया जाता है। इस पूरी सर्जिकल प्रक्रिया को कम्प्लीट होने में लगभग 30 मिनट का समय लगता है। यह एक दिन की सर्जिकल प्रक्रिया है, इसलिए सर्जरी के बाद मरीज को हॉस्पिटल में रुकने की जरूरत भी नहीं पड़ती है।

आगे पढ़ें:- भारत में गाइनेकोमैस्टिया की सर्जरी में कितना खर्च आता है?

वेसर लिपोसक्शन सर्जरी ख़त्म होने के कुछ ही घंटों के बाद सर्जन आवश्यक दवाएं और क्रीम निर्धारित करते हैं फिर उसके बाद मरीज को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया जाता है। इस सर्जरी के मात्र 5-7 दिनों के बाद मरीज अपने दैनिक जीवन के कामों को दोबारा शुरू कर सकते हैं। हालांकि, वेसर लिपोसक्शन के बाद पूरी तरह से ठीक होने में लगभग 4-5 सप्ताह का समय लगता है।

अपने शहर के टॉप रेटेड हॉस्पिटल में गाइनेकोमैस्टिया की सर्जरी कराएं

अगर आप अपने शहर के टॉप रेटेड हॉस्पिटल में गाइनेकोमैस्टिया का कॉस्ट इफेक्टिव सर्जिकल इलाज पाना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें। भारत के 30 से अधिक शहरों में हमारे क्लिनिक और हॉस्पिटल मौजूद हैं। हमारे हॉस्पिटल में गाइनेकोमैस्टिया का इलाज वेसर लिपोसक्शन सर्जरी से किया जाता है। इस सर्जरी को एक अनुभवी, कुशल और विश्वसनीय प्लास्टिक सर्जन के द्वारा पूरा किया जाता है।

गाइनेकोमैस्टिया का बेस्ट इलाज करने के साथ-साथ हम मरीजों को ढेरों सुविधाएं भी प्रदान करते हैं जिसमें सर्जरी वाले दिन फ्री पिकअप और ड्रॉप, सभी जांचों पर 30% तक की छूट और सर्जरी के बाद कुछ दिनों तक सर्जन के साथ फ्री फॉलो-अप्स मीटिंग आदि शामिल हैं। इतना ही नहीं, हमारे क्लिनिक में सभी इंश्योरेंस कवर किए जाते हैं और आप 100% इंश्योरेंस भी क्लेम कर सकते हैं।

आगे पढ़ें