side-effects-of-cataract-surgery-in-hindi

आंखों को प्रभावित करने वाली समस्याओं में मोतियाबिंद का नाम सबसे कॉमन है। दवाओं या आई ड्रॉप से मोतियाबिंद का इलाज नहीं किया जा सकता है। इसका इलाज केवल ऑपरेशन से ही संभव है। मोतियाबिंद ऑपरेशन को कई तरह से किया जाता है।

मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद अगर आप किसी तरह की लापरवाही करते हैं तो इससे आपकी स्थिति और खराब हो सकती है। ऐसे बहुत से मामले सामने आए हैं जिसमें लापरवाही करने पर मरीज को ढेरों जटिलताओं का सामना करना पड़ा है। मोतियाबिंद सर्जरी के संभावित साइड इफेक्ट्स निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं।

01. ब्लीडिंग होना

मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद आंखों में इंफेक्शन और सूजन की समस्या होने के साथ-साथ कई बार आंखों के भीतरी हिस्से में ब्लीडिंग भी हो सकती है। आंख के भीतर ब्लीडिंग होना काफी गंभीर समस्या है। 

अगर आप मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद ऐसी किसी समस्या को अनुभव करते हैं तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से मिलकर इस बारे में उन्हें बताएं। इस स्थिति में लापरवाही करना आपके अंधेपन का कारण भी बन सकता है।

02. सूजन होना

आंखों में इंफेक्शन होने के बाद सूजन की समस्या भी पैदा हो जाती है। हालांकि, सूजन की समस्या कुछ समय के बाद अपने आप ही ठीक हो जाती है। लेकिन अगर ऐसा नहीं हुआ तो फिर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलकर इस बारे में बात करनी चाहिए। डॉक्टर मेडिकेशन की मदद से इस परेशानी को काफी आसानी से खत्म कर सकते हैं।

03. इंफेक्शन होना

मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद आपकी आंखें बहुत कोमल और नाज़ुक हो जाती हैं, जिसके कारण इंफेक्शन होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। इसलिए यह आवश्यक है की आप अपनी आंखों के साथ ऐसी कोई भी हरकत न करें जिससे इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ सकता है। 

इसे पढ़ें: मोतियाबिंद का ऑपरेशन कब करवाना चाहिए?

04. रौशनी का न बढ़ना

मोतियाबिंद ऑपरेशन ‘मोतियाबिंद’ की समस्या को दूर करने के साथ-साथ आंख की रौशनी यानी दृष्टि को बेहतर बनाने के लिए भी किया जाता है। अगर मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद आपकी दृष्टि में किसी तरह का कोई सकारात्मक बदलाव नहीं आता है तो यह एक परेशानी हो सकती है। 

अगर मोतियाबिंद ऑपरेशन के कुछ दिनों के बाद भी आपको चीजें साफ-साफ दिखाई न दें तो फिर आपको अपने डॉक्टर से मिलकर इस समस्या के बारे में बात करनी चाहिए।

05. दृष्टि का हमेशा के लिए गायब हो जाना

वैसे तो मोतियाबिंद ऑपरेशन की ढेरों जटिलताएं हैं, लेकिन इन सब में सबसे बड़ी जटिलता आंख की रौशनी का हमेशा के लिए गायब होना है। हालांकि, मोतियाबिंद की सर्जरी को अब एक सामान्य सर्जरी के रूप में जाना है। 

लेकिन इसका मतलब यह नहीं हुआ है इसकी जटिलताएं नहीं हैं। बेशक इसकी ढेरों जटिलताएं हैं और यही कारण है की हर नेत्र रोग विशेषज्ञ मोतियाबिंद ऑपरेशन करने के बाद मरीज को सबसे पहले अपनी आंखों की सही देखभाल करने की सलाह देते हैं।

मोतियाबिंद की रोकथाम  

मोतियाबिंद की रोकथाम को लेकर हमेशा बहस चलती रही है। जहां कुछ लोगों का मानना है कि इसकी रोकथाम नहीं की जा सकती है, वही कुछ लोग इस बात से सहमति रखते हैं कि कुछ पोषक तत्वों और पोषण संबंधित खुराक की मदद से मोतियाबिंद के जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। 

आमतौर पर मोतियाबिंद की समस्या एक खास उम्र यानी की 50-60 वर्ष के बाद होती है। लेकिन आंखों पर चोट लगने के कारण यह बीमारी किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें: मोतियाबिंद होने पर क्या करना चाहिए?

शोध से यह बात सामने आई है कि भोजन में विटामिन ई और कैरोटिनॉयड्स ल्यूटिन और जेक्सेंथिन से भरपूर आहार का सेवन करने से मोतियाबिंद की संभावना में बहुत कमी आती है। विटामिन ई के अच्छे खाद्य स्रोतों में बादाम, पालक और सूरजमुखी का फूल शामिल है। 

साथ ही, ल्यूटिन और जेक्सेंथिन के अच्छे स्रोतों में पालक, केल और दूसरी ढेरों हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल हैं। दूसरे अध्ययनों से यह पता चला है कि एंटीऑक्सीडेंट विटामिन जैसे कि विटामिन सी और ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर खाने पीने वाली चीजें मोतियाबिंद के जोखिम को बहुत हद तक कम किया जा सकता है।

इसके अलावा, आप धुप वाला चश्मा भी पहन सकते हैं जो आपके बाहर होने पर सूरज कि पराबैंगनी किरणों को आपकी आंखों तक आने से 100% रोकता और मोतियाबिंद के खतरे को कम करता है। 

इसे पढ़ें: मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद क्या खाना चाहिए?

अगर इन सब उपायों के बाद भी आपको मोतियाबिंद की समस्या होती है तो आपको जल्द से जल्द नेत्र रोग विशेषज्ञ से मिलकर अपने आंख का उचित जांच और इलाज कराना चाहिए। सर्जरी की मदद से मोतियाबिंद को हमेशा के लिए ठीक किया जा सकता है। 

मोतियाबिंद की सर्जरी दो तरह से की जाती है। एक पारंपरिक रूप से और दूसरा लेजर की मदद से। मोतियाबिंद की लेजर सर्जरी मात्र कुछ ही मिनटों में ही पूरी हो जाती है। अगर आप सर्जरी की मदद से बिना किसी परेशानी का सामना किए अपने मोतियाबिंद से हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहते हैं तो प्रिस्टीन केयर से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारे पास देश के बेहतरीन नेत्र रोग विशेषज्ञ मौजूद हैं जिन्हें लेजर सर्जरी में सालों का अनुभव प्राप्त है। ये आपकी समस्या को मात्र एक दिन में बहुत ही आसानी से हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं।

और पढ़ें